कर्नाटक पर निबंध – Essay on Karnataka in Hindi

Essay on Karnataka in Hindi

आज हम इस पोस्ट में कर्नाटक पर निबंध (Essay on Karnataka in Hindi) के द्वारा कर्नाटक के बारे में जानेंगे। कर्नाटक जिसे कर्णाटक भी कहते हैं, दक्षिण भारत का एक राज्य है। इस राज्य का गठन १ नवंबर, १९५६ को राज्य पुनर्गठन अधिनियम के अधीन किया गया था। पहले यह मैसूर राज्य कहलाता था। १९७३ में पुनर्नामकरण कर इसका नाम कर्नाटक कर दिया गय। इसकी सीमाएं पश्चिम में अरब सागर, उत्तर पश्चिम में गोआ, उत्तर में महाराष्ट्र, पूर्व में आंध्र प्रदेश, दक्षिण-पूर्व में तमिल नाडु एवं दक्षिण में केरल से लगती हैं।

कर्नाटक पर निबंध – Essay on Karnataka in Hindi

कर्नाटक दक्षिण भारत का एक राज्य है । कर्नाटक को कर्णाटक भी कहा जाता है । इस राज्य की स्थापना १ नवंबर १९५६ को हुई थी, जिसे मैसूर नाम से जाना जाता था । १९७३ में पुनर्नामकरण कर इसका नाम कर्नाटक कर दिया गया ।

कर्नाटक राज्य में कुल तीस जिला है । यहाँ का राजकीय भाषा कन्नड़ है । प्राचीन कर्नाटक और सिंधु घाटी सभ्यता का इतिहास बहुत पुराना है । कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु है ।

इसकी सीमाएं पश्चिम में अरब सागर, उत्तर पश्चिम मन गोवा, उत्तर में महाराष्ट्र, पूर्व में आंध्रप्रदेश, दक्षिण पूर्व में तमिलनाडु एवं दक्षिण में केरल से लगती है । कर्नाटक नाम का उद्भव कुरुनाडु से हुआ है जिसका अर्थ है भव्य उच्चभूमि ।

इसका कुल क्षेत्रफल ७४,१२२ वर्ग मील १,९१,९७६ किलोमीटर² है, जो भारत के कुल भैगोलिक क्षेत्र का ५.८३ प्रतिशत है । ३० जिलों के साथ कर्नाटक राज्य का सबसे बड़ा राज्य है । कर्नाटक राज्य की आधिकारिक और सर्वाधिक बोली जाने वाली भाषा कन्नड़ है ।

कर्नाटक की प्रमुख नदियां कावेरी, तुंगभद्रा, कृष्णा, मलय प्रभा और शरावती है । इसका सबसे ऊँचा शिखर चिकमंगालूर जिले का मुल्लयन गिरी पर्वत है ।

कर्नाटक दक्षिण पठार के पश्चिमी किनारे पर स्थित है । प्राकृतिक दृष्टि से इस राज्य को चार क्षेत्रों में बांटा गया है । पहला समुद्र तटीय क्षेत्र, दूसरा मलमाड़, तीसरा उत्तरी मैदान और चौथा दक्षिणी मैदान ।

कर्नाटक इसा से चौथी शताब्दी पूर्व कर्नाटक महान मौर्य साम्राज्य का अंग था । कर्नाटक राज्य का राजकीय पशु हाथी है और राजकीय पेड़ चंदन का पेड़ है । विश्व का पहला परिवार नियोजन क्लिनिक इसी राज्य में खोला गया था । तिलहन के उत्पादन में कर्नाटक का पांचवा स्थान है ।

कर्नाटक मुख्यतः गाँव में बसा और कृषि प्रधान राज्य है । यहाँ की ६६ प्रतिशत जनसँख्या ग्रामीण क्षेत्रों में रहती है । कर्नाटक की ६० प्रतिशत भूमि कृषि योग्य है जिसके ७२ प्रतिशत भाग में भरपूर वर्षा होती है और २८ प्रतिशत में सिंचाई से खेती की जाती है । फसलों में कर्नाटक में रागी के कुल उत्पादन का ४७ प्रतिशत होता है ।

अन्य फसलें ज्वार, मिलेट, तुअर, मक्का, चावल एवं बाजरा है । देश का कुल उत्पादन की ५९ प्रतिशत काफी उत्पादन यहाँ होता है । जैसे इलायची, सुपारी, नारियल, कपास, मूंगफली, मिर्च, अरंडी गन्ना और तंबाखू है । राज्य में कई बड़े उद्योग हैं, मशीनरी औजारों, हवाई जहाज, इलेक्ट्रॉनिक उत्पाद, दूर संचार के उपकरणों का निर्माण हुआ है ।

देश में कुल सिल्क में से ८५ प्रतिशत कर्नाटक में पैदा होता है । सिल्क के अलावा कर्नाटक में चंदन का साबुन एवं चंदन का तेल विश्वविख्यात है । कर्नाटक में बैंगलोर एवं मंगलोर में अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे हैं । कर्नाटक में रेल्वे नेटवर्क की कुल लंबाई ३,०८९ किमी है । कर्नाटक में ११ बंदरगाह हैं ।

कर्नाटक के कुल ८ प्रसिद्द मंदिर हैं ।

  • कोल्लूर मुकाम्बिका मंदिर
  • उडुपी श्रीकृष्ण मंदिर
  • धर्मस्थल मंजुनाथ मंदिर
  • गोकर्ण महाबलेश्वर मंदिर
  • मुरुदेश्वर मंदिर
  • कुके सुब्रमण्यम मंदिर
  • होरानुडू अन्नपूर्णाश्वरी मंदिर
  • गुड़गट्टू महागानापति मंदिर

कर्नाटक में कई त्योहार प्रसिद्ध है । कर्नाटक मे दशहरा त्योहार बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है । यहां के लोग गणेश चतुर्थी भी बड़े ही धूमधाम से मनाते हैं ।इसके अलावा कई महोत्सव कर्नाटक के जिलों में आयोजित किए जाते है ।

उम्मीद करता हु आपको कर्नाटक पर निबंध (Essay on Karnataka in Hindi) अगर कोई बोले तो इसके बारे में आसानी से लिख पाएंगे। अगर आप कुछ पूछना या जानना चाहते है, तो आप हमारे फेसबुक पेज पर जाकर अपना सन्देश भेज सकते है. हम आपके प्रश्न का उत्तर जल्द से जल्द देने का प्रयास करेंगे। इस पोस्ट को पढने के लिए आपका धन्यवाद!