BDS क्या है? इसका फुल फॉर्म और BDS कैसे करे? पूरी जानकारी

Spread the love

बीडीएस कैसे करें? (BDS Kaise Kare)

इस दौड़ती भागती जिंदगी में आज हर कोई चाहता है कि वह एक अच्छी जिंदगी जिए और इस जिंदगी के लिए जीवन पर्यंत मेहनत भी करता है ताकि वह अपने सपनों को पूरा करके एक उज्जवल भविष्य की ओर अग्रसर हो सके जिंदगी में हर कुछ परिश्रम से संभव है अगर हम सही दिशा में मेहनत करें तो हम अपने लक्ष्य को पा सकते हैं

हम में से कुछ युवाओं का लक्ष्य होता है कि वो डेंटिस्ट बनें और और वे अपने लक्ष्य को पूरा भी करना चाहते हैं। पर उन्हें यह पता नहीं होता कि वह इसके लिए क्या करें। तो दोस्तों आप परेशान मत होइए आज के लेख में हम आपको इसी विषय पर जानकारी देंगे।

दोस्तों डेंटिस्ट पढ़ने के लिए बीडीएस कोर्स की पढ़ाई करनी होती है। दोस्तों अब आप जानना चाहते होगें की बीडीएस कैसे करें तो आइए हम विस्तार से इस पर चर्चा करते हैं।

  • बीडीएस क्या है?
  • बीडीएस कोर्स कैसे करें
  • बीडीएस कोर्स करने के लिए? शैक्षिक योग्यता क्या होनी चाहिए?
  • बीडीएसस कोर्स में प्रवेश कैसे लें!
  • पाठ्यक्रम क्या है?
  • बीडीएस करने के बाद कौन सी पढ़ाई करें?
  • करियर तथा नौकरी क्या है?

बीडीएस क्या है (What is BDS)

दोस्तों आइए सबसे पहले हम जान लेते हैं कीवी डी एस का फुल फॉर्म क्या होता है। तो दोस्तों बीडीएस का फुल फॉर्म है”Bachelor of Dental Surgery”यानी दंत चिकित्सा में स्नातक। यह अंडरग्रैजुएट डिग्री कोर्स है जिसे डेंटिस्ट बनने के लिए किया जाता है। बीडीएस करने के लिए 4 से 5 साल लगते हैं। इसमें इंटर्नशिप भी करनी होती है। इस कोर्स को करने के दौरान आपको दांत से जुड़ी बीमारियों एवं इलाज का अध्ययन करना होता है। इसकी पढ़ाई सरकारी और प्राइवेट दोनों कॉलेजों में होती है। प्राइवेट कॉलेजों में 1 साल की इंटर्नशिप भी कराई जाती है ताकि आसानी से नौकरी मिल सके।

बीडीएस कोर्स करने के लिए शैक्षणिक योग्यता

बीडीएस की पढ़ाई करना चाहते हैं तो आपके पास नीचे दि गई विभिन्न शैक्षिक योग्यता अनिवार्य है

  • आप हाई स्कूल अच्छे नंबरों से पास हो।
  • आप विज्ञान वर्ग के विषय भौतिकी रसायन जीव विज्ञान विषय में 50 प्रतिशत नंबरों से इंटरमीडिएट पास हो।

बीडीएस में प्रवेश प्रक्रिया क्या होती है

बीडीएस में प्रवेश लेने के लिए अभ्यर्थी को NEET,AIPMT,COMDK परीक्षा देनी होती है। समय-समय पर यह परीक्षा स्टेट , सेंट्रल गवर्नमेंट या उनके कई डिपार्टमेंट द्वारा हर वर्ष आयोजित की जाती है। प्रवेश परीक्षा के बाद अधिकतर विश्वविद्यालय सफल चयनित अभ्यर्थियों की काउंसलिंग करता है।

बीडीएस की फीस

बीडीएस करने के लिए सरकारी कॉलेज तथा प्राइवेट कॉलेज की अलग अलग फीसहोती है लगभग50000 से 1200000 रुपए तक लगते है।

बीडीएस करने के बाद की पढ़ाई

बीडीएस की पढ़ाई करने के बाद अगर आप चाहे तो किसी सरकारी या प्राइवेट हॉस्पिटल से इंटर्नशिप के माध्यम व्यवहारिक अनुभव प्राप्त कर सकते हैं। आप चाहे तो अपना डेंटल क्लीनिक चला भी सकते हैं। भारतीय सेना में भी बीडीएस की भर्ती होती है। अपनी रुचि और योग्यता के अनुसार आप चाहे तो मास्टर डिग्री के लिए भी आवेदन कर सकते हैं।

इस करने के बाद नौकरी एवं करियर

डेंटिस्ट डॉक्टर सरकारी एवं प्राइवेट दोनों सेक्टरों में नौकरी कर सकते हैं। अधिकांश डेंटिस्ट इसे प्रोफेशन के रूप में अपनाते है। यह जॉब आपको तभी मिल सकती है जब आप अच्छे से पढ़ाई कर ले और आपको इसके विषय में अच्छी जानकारी हो वैसे तो बीडीएस करने के बाद आपके पास बहुत सारे अवसर उपलब्ध होते हैं। लेकिन मैं इनमें से कुछ महत्वपूर्ण नौकरी के बारे में आपको बताना चाहूंगी जिसकी आसानी से आप तैयारी कर सकते हैं।

  • फार्मास्यूटिकल कम्पनीज
  • प्राइवेट प्रैक्टिस
  • रिसर्च इंस्टीटूट्स
  • डेंटल क्लीनिक
  • डेंटल इक्विपमेंट मनुफक्चरर्स
  • डेंटल प्रोडक्ट्स मनुफक्चरर्स
  • एजुकेशनल इंस्टीटूट्स
  • हॉस्पिटल्स।

बीडीएस में पढाएं जाने वाले विषय(BDS Subject)

  • Orthodontics
  • Human Physiology
  • Materials used in Dentistry
  • Oral and Maxillofacial Surgery
  • Oral Pathology and Oral Microbiology
  • Human Oral Anatomy,
  • Histology and Tooth Morphology

आशा करती हूं दोस्तों मेरे इस लेख के माध्यम से आपके सभी सवालों का जवाब मिल गया होगा आपका जब भी बीडीएस एग्जाम में चयन होता हैं तो आप सभी पूरी लगन और मेहनत के साथ इसकी पढ़ाई करे तो एक सफल डेंटिस्ट बन पाएंगे। उम्मीद करती हूं कि आपको मेरा यह लेख जरूर पसंद आया होगा।

 


Spread the love
error: Content is protected !!