स्विफ्ट कोड क्या होता है और इसका उपयोग कहा किया जाता है? पूरी जानकारी

Spread the love

बहुत कम लोगों ने इसका नाम सुना होगा लेकिन आज आपको हम स्विफ्ट कोड के बारे में सारी जानकारी देंगे जैसे हम भारत के अंदर पैसा भेजते हैं या मंगाते हैं तो हमें आईएफएससी कोड  की जरूरत पड़ती है ठीक उसी प्रकार से जब हम भी देश पैसा भेजते हैं या मंगाते हैं तो हमें स्विफ्ट कोड की जरूरत पड़ती है.

स्विफ्ट कोड इंटरनेशनल ट्रांजैक्शन मैं किसी बैंक या ब्रांच की पहचान के लिए इस्तेमाल किया जाता है स्विफ्ट कोड और आईएफसी कोड में बहुत अंतर है यह दोनों एक जैसे नहीं होते हैं दोनों अलग-अलग होते हैं कोड का इस्तेमाल इंटरनेशनल बैंकिंग में किया जाता है।

स्विफ्ट कोड क्या होता है? (Swift Code Kya Hai)

Swift Society for worldwide interbank financial telecommunication जैसा कि आपको नाम से पता चल गया होगा यह कोर्ट बैंकों के इंटरनेशनल सेटलमेंट में इस्तेमाल किया जाता है बैंकों के इंटरनेशनल सेटलमेंट इस्तेमाल होने वाले बिजनेस आईडेंटिफायर कोड  नाम से जाना जाता है आपको बिल्कुल कंफ्यूज होने की जरूरत नहीं है यह तीनों एक ही होते हैं जैसा कि हम पहले बता चुके हैं कि Swift society for worldwide interbank financial telecommunication code  का इस्तेमाल इंटरनेशनल बैंकिंग में होता है जब आप विदेश से पैसा भेजते हैं या मंगवाते हैं तो सूट कोट के जरिए पता चलता है कि आप किस देश के बैंक में और किस ब्रांच में पैसा भेजना चाहते हैं स्विफ्ट कोड 811 डिजिट का होता है,

जिसमें शुरू में बैंक का नाम फिर उस बैंक का देश फिर उसकी ब्रांच की लोकेशन की जानकारी शामिल होती है अब आपको हम बताने जा रहे हैं स्विफ्ट कोड मुख्य रूप से कितने भागों में बटा होता है और कौन से कैरेक्टर के आदर्श आते हैं आपको बता दें एक शिफ्ट को मुख्य रूप से चार भागों में बटा होता है,

जिसमें सबसे पहले बैंक का कोड फिर कंट्री कोड लोकेशन कोड इसके बाद ब्रांच कोड होता है यह चारों मिलाकर रिकॉर्ड बनते हैं इसके शुरू में आईएफएससी कोड की तरह बैंक का नाम होता है इसके बाद कंट्री कोड आई एन होता है  आई एन भारत का कंट्री कोड है इसके बाद लोकेशन कोड होता है जो कि अल्फाबेट की होता है इसके बाद  ब्रांच कोड होता है।

अगर आप की पासबुक में आपकी बैंक का स्विफ्ट कोड नहीं है और आप ब्रांच में ही नहीं जाना चाहते तो अपनी बैंक का स्विफ्ट  कोड घर बैठकर भी जान सकते हैं इसके लिए आपको एक वेबसाइट ओपन करना पड़ेगा जिसका नाम है www.ifscswiftcode.com इस वेबसाइट पर आपको किसी  भी बैंक का स्विफ्ट कोड और आईएफसी कोड बड़ी आसानी से मिल जाएगा,

सबसे आपको  कंट्री कोड सिलेक्ट करना होगा इसके बाद बैंक लिस्ट में जाकर आप जिस बैंक का स्विफ्ट कोड जानना चाहते हैं उस बैंक को सिर्फ चाहिए इसके बाद आपको राज्य सेलेक्ट करना होगा अगले ऑप्शन में आपको अपना सिटी सिलेक्ट करना होगा इसके बाद अपनी बैंक का ब्रांच कोड सेलेक्ट करना होगा जैसे ही आप यार भरकर सिलेक्ट करेंगे आपके सामने आपकी ब्रांच का स्विफ्ट कोड आपके सामने होगा आज के जमाने में अगर आपको भी देश पैसा भेजना है तो बहुत ही आसान है,

आपको अपने बैंक जाना है और अपनी बैंक को कुछ फार्म भर कर देना है और आप जहां पैसा भेजना चाहते हैं बैंक आपकी पैसा हुआ भेज देगी चाहे इंसान किसी भी देश में हो और अगर स्विफ्ट कोड ना हो तो यह काम बहुत ही मुश्किल होता है स्विफ्ट कोड के जरिए पैसा बहुत आसानी से और बहुत कम समय में पहुंच जाता है।

शुरुआत में स्विफ्ट कोड को ट्रेजरी और उससे जुड़े  ट्रांजैक्शन के लिए डिजाइन किया गया था लेकिन इसका नेटवर्क इतना सिक्योर कनेक्ट और फास्ट था कि इसका इस्तेमाल बैंकिंग ट्रांजैक्शन में करने के बारे में सोचा गया आज लगभग दुनिया के हर फाइनेंसियल स्टेटमेंट और बैंक इसका इस्तेमाल कर रहे हैं,

इसका इस्तेमाल बड़ी-बड़ी संस्थाएं भी कर रही है  Swift नेटवर्क की स्थापना 1970 में हुई थी इसका मुख्य उद्देश ग्लोबल स्तर पर फाइनेंशियल सिस्टम के लिए नेट फास्ट सिक्योर और करेक्ट नेटवर्क तैयार करना था 1973 में दुनिया के 15 देशों में  239 बैंक ने cross border ट्रांजैक्शन में आने वाली दिक्कतों को दूर करने के लिए साथ काम करने का फैसला किया उन सभी बैंकों ने मिलकर स्विफ्ट सिक्योरिटी फॉर वर्ल्ड वाइड इंटरनेशनल फाइनेंशियल टेलीकम्युनिकेशन के नाम से एक कारपोरेट इबीएमटी का गठन किया  भले ही स्विफ्ट नेटवर्क की स्थापना साल 1970 में हूं लेकिन इसे अपना पहला मैसेज भेजने में 7 साल का वक्त लग गया और धीरे-धीरे आज इसने बहुत अच्छी जगह प्राप्त कर ली है।


Spread the love