इम्फाल पर निबंध – Essay on Imphal in Hindi

Essay on Imphal in Hindi

इस पोस्ट के माध्यम से हम इम्फाल पर निबंध (Essay on Imphal in Hindi) के जरिये इम्फाल के बारे में जानने की कोशिस करेंगे। इम्फाल (Imphal) भारत के मणिपुर राज्य की राजधानी है। इस ऐतिहासिक नगर के केन्द्र में भूतपूर्व मणिपुर राज्य की गद्दी, कंगला महल, के खण्डहर उपस्थित हैं। इम्फाल नगर इम्फाल पश्चिम ज़िले और इम्फाल पूर्व ज़िले दोनों में विस्तारित है, और शहर की अधिकांश आबादी इसके पश्चिमी भाग में निवास करती है।

यह देश का इकलौता और सबसे बड़ा मार्केट है जिसका संचालन महिलाओं द्वारा किया जाता है। इस बाजार से आप ट्रेडिशनल मणिपुरी हैंडलूम का सामान जैसे शॉल, बैग, कपड़े, घर में इस्तेमाल होने वाली चीजें और कई दूसरी चीजें खरीद सकते हैं।

इम्फाल पर निबंध – Essay on Imphal in Hindi

भारत के नॉर्थ ईस्ट राज्य मणिपुर की खूबसूरत राजधानी इंफाल अपनी एक अलग पहचान रखती है। बेहद शांत और खूबसूरत प्राकृतिक दृश्य, अनोखा वाइल्डलाइफ, तैरते द्वीप यहां की नैसर्गिक सुंदरता में इजाफा करते हैं।

साथ ही एक और चीज जो यहां आने के बाद आपका दिल जीत लेती है, वह है वहां के लोगों का स्वभाव। इतने शांत और मिलनसार की साथ में थोड़ा वक्त बिताने के बाद ही अपने से लगने लगते हैं। कहीं घूमने के प्लानिंग कर रहे हैं तो इस समय मणिपुर उन जगहों में से एक है, जहां आपको जरूर जाना चाहिए। क्योंकि नवंबर से अप्रैल का समय यहां घूमने के लिए बेस्ट होता है।

मणिपुर की राजधानी इंफाल है, जो 7 पहाड़ियों से घिरा हुआ है और प्रदेश की सांस्कृतिक और व्यवसायिक गतिविधियों का प्रमुख केंद्र है। इंफाल में आपको घूमने और करने के लिए बहुत कुछ है।

यहां स्थित युद्ध कब्रिस्तान या वॉर सिमेट्री, द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान मारे गए भारतीय और ब्रिटिश सैनिकों को श्रद्धांजलि देने के मकसद से इस जगह को बनाया गया था। यह जगह बेहद शांत है और इसे स्टोन मार्कर के जरिए अच्छी तरह से मेंटेन करके भी रखा गया है, जिसमें शहीद सैनिकों के बारे में पूरी जानकारी दी गई है।

गोविंदाजी मंदिर

मणिपुर के पूर्व शासकों के महल के बगल में बना यह मंदिर वैष्णव पंत को मानने वालों का प्रसिद्ध और पवित्र मंदिर है। वैसे तो इस मंदिर का स्ट्रक्चर बेहद सिंपल है लेकिन यहां की खूबसूरती और सुकून आपको आध्यात्म से जोड़ता है।

लोकटक लेक और सेंद्रा द्वीप

टूरिस्ट्स को इस जगह पर जरूर जाना चाहिए। इम्फाल से करीब 48 किलोमीटर दूर स्थित सेंद्रा द्वीप लोकटक लेक के बीचों बीच किसी ऊपर उठे हुए पहाड़ की तरह दिखता है। लोकटक लेक, नॉर्थ ईस्ट का सबसे बड़ा फ्रेशवॉटर लेक है। लेक के सामने बेहद खूबसूरत छोटे-छोटे आइलैंड हैं। यह जगह जितनी खूबसूरत है उतनी ही अडवेंचरस भी। बोटिंग, कनोइंग और दूसरे वॉटर स्पोर्ट्स ऐक्टिविटीज में शामिल होना चाहते हैं तो यहां जरूर जाएं।

केबुल लमजाओ नैशनल पार्क

संगाई नाम की स्थानीय प्रजाति वाली दुर्लभ हिरण का घर है यह पार्क जो राजधानी इंफाल से करीब 53 किलोमीटर दूर है। यह नैशनल पार्क प्रसिद्ध लोकटक लेक के किनारे पर स्थित है और संगाई हिरणों का प्राकृतिक आवास है। इस पार्क की सबसे अनोखी बात ये है कि यह पानी पर तैरता हुआ पार्क है।

ख्वैरमबंद बाजार

इस बाजार में आपको मातृसत्तात्मक व्यवस्था की झलक साफ दिखेगी। यह देश का इकलौता और सबसे बड़ा मार्केट है जिसका संचालन महिलाओं द्वारा किया जाता है। इस बाजार से आप ट्रेडिशनल मणिपुरी हैंडलूम का सामान जैसे शॉल, बैग, कपड़े, घर में इस्तेमाल होने वाली चीजें और कई दूसरी चीजें खरीद सकते हैं। यहां आने वाले टूरिस्ट्स खासतौर पर इस बाजर से केन और बांस से बने हैंडीक्राफ्ट खरीदना पसंद करते हैं।

कैसे पहुंचे मणिपुर?

हवाई मार्ग से जाना हो तो मणिपुर का अपना एयरपोर्ट है, जो देश के सभी प्रमुख शहरों से जुड़ा हुआ है। यह राजधानी इम्फाल से महज 8 किलोमीटर दूर है। अगर आप रेल मार्ग से जाना चाहते हैं तो मणिपुर का अपना कोई रेलवे स्टेशन नहीं है। नजदीकी रेलवे स्टेशन दीमापुर है, जो इंफाल से 215 किलोमीटर दूर है। वहीं सड़क के रास्ते भी यहां पहुंचा जा सकता है। यहां की सड़कों की स्थिति बहुत अच्छी है। पड़ोसी शहरों गुवाहाटी, अगरतला, दीमापुर, शिलॉन्ग और कोहीमा से इंफाल के जरिए जुड़ा हुआ है।

उम्मीद करता हु आपको इम्फाल पर निबंध (Essay on Imphal in Hindi) के माध्यम से इम्फाल के बारे में पूरी जानकारी मिल गयी होगी। अगर आप कुछ पूछना या जानना चाहते है, तो आप हमारे फेसबुक पेज पर जाकर अपना सन्देश भेज सकते है। हम आपके प्रश्न का उत्तर जल्द से जल्द देने का प्रयास करेंगे। इस पोस्ट को पढने के लिए आपका धन्यवाद!