भ्रष्टाचार मुक्त भारत पर निबंध – Essay on Corruption Free India in Hindi

Spread the love

आज के समय में हर व्यक्ति थोड़े समय में अधिक रकम कमाना चाहता है। और इसके लिए वह भ्रष्टाचार का रास्ता चुनता है। क्योंकि आज के समय में वैसे कोई जॉब नहीं है। जो लोगों को थोड़े समय में करोड़पति बना दे। शायद इसकी वजह हम बढ़ती हुई महंगाई को भी मान सकते हैं। लेकिन देश के हर क्षेत्र और हर स्तर पर भ्रष्टाचार का बोलबाला है। ऐसे में व्यक्तिगत प्रयास भ्रष्टाचार से देश को मुक्त करने का प्रयास कर सकते हैं। लेकिन पूरी तरह से भारत को भ्रष्टाचार मुक्त बनाने के लिए सरकार को ही हस्तक्षेप करना होगा।

भ्रष्टाचार मुक्त भारत पर निबंध – Long and Short Essay on Corruption Free India in Hindi

ऐसा कहना सही नहीं होगा कि केवल सरकारी अधिकारी ही भ्रष्ट है आज के समय में जो भी अच्छी तरह से कमा और खा रहा है और अपनी लाइफ आनंद पूर्वक वितरित कर रहा है वह कहीं ना कहीं भ्रष्टाचार का शिकार है। इन सारी बातों के बीच लोगों के मन में भ्रष्टाचार मुक्त भारत देखने का सपना कैसे पूरा हो आज के समय में या एक बहुत बड़ी चुनौती है।लेकिन इसके बावजूद हमारी सरकार और देश के नागरिक द्वारा “भ्रष्टाचार मुक्त भारत” बनाने का प्रयास जारी रखना चाहिए और इसके लिए बहुत सारा ठोस कदम उठाने चाहिए जिससे इस देश से भ्रष्टाचार को पूरी तरह नष्ट किया जा सके।

भ्रष्टाचार के कारण

भारत को भ्रष्टाचार मुक्त बनाने के लिए सबसे पहले हमें भ्रष्टाचार फैलाने वाले कारकों के बारे में बात करना होगा। हमारे लिए पहले यह जानना आवश्यक है कि भ्रष्टाचार किन कारणों से हो रहा है। तभी हमें के निवारण के लिए सोच पाएंगे। कुछ ऐसे कारणों की व्याख्या करते हैं जो भ्रष्टाचार किसी मुख्य कारण है।

आज के समय में नौकरियों की कमी भ्रष्टाचार का एक कारण बन रही है। योग्यता रहते हुए भी युवाओं के पास नौकरी नहीं है ऐसे में कुछ लोग गलत तरीके से तथा अपराध मुक्त काम करके पैसे कमा रहे हैं जो भ्रष्टाचार को बढ़ावा दे रहा है।

हमारे समाज में भ्रष्टाचार के विरुद्ध कोई सख्त कानून या सजा नहीं बनाई गई है। जिससे भ्रष्टाचार करने की सजा का लोगों के अंदर कोई भय नहीं है। सरकार द्वारा भ्रष्टाचार करने वालों जैसे रिश्वत लेने और देने वाले व्यवसाय के लिए गलत साधनों का प्रयोग करने वाले लोगों को कठोर सजा का प्रबंध करना चाहिए।

जिससे आगे ऐसा करने वाले व्यक्ति एक बार सजा से डरे। तभी वह भ्रष्टाचार के मार्ग पर चलने से रुक पाएगा।
शिक्षा के अभाव में लोग गलत राह पर चलने लगते हैं उन्हें सही और गलत का अंदाजा भी नहीं होता। और वह इस तरह से भ्रष्टाचार के मार्ग पर बढ़ने लगते हैं और भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने लगते हैं।

इस समय लोगों के अंदर लालच और प्रतिस्पर्धा कूट-कूट कर भरी हुई है। हर कोई इस पागल भीड़ में अपने सपने को पूरा करने के लिए भ्रष्ट साधनों का उपयोग करने लगा है। अपने रिश्तेदारों और दोस्तों के साथ ही गलत तरीके से फ्रॉड करके पैसे या कोई लाभ कमा लेता है।

भ्रष्टाचार मुक्त भारत का निर्माण

हमारे समाज में एक बात कही जाती है कि एक बार किसी भी चीज का कारण जाने के बाद हमारी आधी समस्या का निवारण हो जाता है। ऐसे ही जब हम भ्रष्टाचार फैलाने के कारणों को जान गए हैं। तो अब उन कारणों के ख़त्म करने के समाधान के बारे में सोचना चाहिए।
भारतीय सरकार को यह समझना चाहिए कि हमारा देश तबतक तरक्की नहीं कर सकता है।

जब तक भारत को भ्रष्टाचार मुक्त बनाने की जिम्मेदारी को वह पूरी सख्ती के साथ नहीं लेंगा। उन सारे कारणों को जड़ से नष्ट करना होगा जो भारत में भ्रष्टाचार फैला रहे हैं। हर कोई चाहता है कि भारत भ्रष्टाचार मुक्त हो जाए लेकिन लोग इसके लिए पूरी तरह सरकार को जिम्मेदार मानते हैं। और जब इस दिशा में कुछ सुधार नहीं हो पाता है तो लोग सरकार की आलोचना करते हैं। लेकिन क्या हम कभी इस बात का प्रयास करते हैं कि इस भ्रष्टाचार को कैसे खत्म किया जाए? यह बात कोई नहीं सोचता।

हम सभी ही जाने अनजाने में भ्रष्टाचार को जन्म देते हैं लेकिन इसको खत्म करने के लिए सरकार पर आश्रित रहते हैं। लेकिन भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए पहल इस देश के नागरिकों को ही करना पड़ेगा। क्योंकि जब तक इस देश के नागरिक एक टीम के रूप में भ्रष्टाचार को मुक्त करने के लिए कदम नहीं उठाएंगे। तब तक भ्रष्टाचार मुक्त भारत का सपना नहीं पूरा हो पाएगा।

निष्कर्ष

भ्रष्टाचार मुक्त भारत का सपना हम सभी देखते हैं। सरकार द्वारा भी लगातार प्रयास किया जा रहा है कि भारत को भ्रष्टाचार मुक्त बनाया जाए लेकिन यह भी एक सच्चाई है कि सरकार इसके लिए कोई ठोस कदम नहीं उठा रही है जिससे कहीं ना कहीं भ्रष्टाचार को लेकर लोगों के मन में खौफ नहीं उत्पन्न हो पा रहा है और भ्रष्टाचार को यह एक बढ़ावा देने का काम कर रही है।

भारत के नागरिकों को यह सोचना होगा कि भ्रष्टाचार देश में लोगों द्वारा ही फैल रहा है। इसीलिए सबसे पहले लोगों को भ्रष्टाचार को खत्म करने के प्रति जागरूक होना होगा। तभी इस देश को भ्रष्टाचार मुक्त किया जा सकता है। अगर हमारे देश से भ्रष्टाचार खत्म हो जाएगा तो देश फल फूल सकता है।


Spread the love