कंटेंट मार्केटिंग क्या है? Content Marketing कैसे करे? पूरी जानकारी

Spread the love

Content Marketing Kya Hai?

कंटेंट मार्केटिंग जानने से पहले आपको पता इसका बेस पता होना चाहिए जिसे डिजिटल मार्केटिंग कहा जाता है, जैसा की हम सभी जाते हैं की आज के समय मे लगभग पूरे विश्व मे काफ़ि काम ऑनलाइन ही किये जस रहे हैं और देखा जाए तो जबसे कोरोना का कहर दुनिया पर पड़ा है तबसे हर देश की सरकार ने जिस काम को ऑनलाइन तरीके मे बदल सकते थे उसको बदल दिया है। दफ्तरों के काम, विद्यालयों की पढाई और कई कामों को सरकार व विभिन्न कंपनियों ने ऑनलाइन बदल दिया है।

अपने समान व वस्तुओं को डिजिटल तरीकों और साधनों की मदद से marketing काकरने को ही डिजिटल मेकीटिंग कहते हैं। डिजिटल मार्केटिंग करने के लिए ज्यादा पैसा invest नही करना पड़ता, से हम अपने फोन, लैपटॉप, कंप्यूटर के ज़रिये इंटरनेट को इस्तेमाल करते हुए कर सकते हैं। दरहसल डिजिटल मार्केटिंग को 1980 के दशक मे जारी करने के लिए कुछ कदम उठाये गए थे परंतु वो हो नही पाया था, लेकिन सन् 1990 के समय इसको उपर लाया गया, इसका नाम लोगो ने सुना और डिजिटल मार्केटिंग के ज़रिये काम होने लगे।

सबसे पहले हम यह पता करते हैं की कंटेंट होता क्या है। किसी भी फोटो, वीडियो और text के रूप मे किसी भी तरह की वेबसाइट या अखबार पर डालने को content कहते हैं। दरहसल इसका इस्तेमाल users का ध्यान खींचने के लिए किया जाता है,  काँटेंट्स को किसी मकसद से professionally  लोगों के सामने लाया जाता है , इसके पीछे कारण यह ही की कंटेंट को देखकर या पढ़कर लोग उस प्रोडक्ट और वस्तु के बारे मे परिचित हो जाएंगे औरर सारी जानकारी हासिल कर लेंगे। आसान भाषा मे कहें तो users को  content के ज़रिये जानकारी देना ही कंटेंट मार्केटिंग कहलाता है।

Content marketing भी देखा जाए तो डिजिटल marketing का ही हिस्सा है । Content मार्केटिंग मे ज्यादतर वही लोग जाना पसंद करते हैं जिनकी लिखने की कला, क्षमता अच्छी होती है और जो लिखना बखूबी जानते हैं। कोकंटेंट मार्केटिंग एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जिस पर आप सूचना से भरपूर तथा लोगों का लाभ और मनोरंजन करने वाले कंटेंट को सोशल मीडिया, ऑनलाइन मीडिया, प्रिंट मीडिया या टेलीविज़न पर डाल कर प्रोमोट किया जाता हैं और उसे लोग देखते भी हैं। Content राइटर्स विभिन्न content बनाते हैं जिससे की तरह तरह के लोग कंटेंट को देखें पढ़े और इसी की वजह से users की संख्या काफि बढ़ भी जाती है।

कंटेंट मार्केटिंग के कई examples हैं जैसे –

  • टेक्स्ट – टेक्स्ट content मार्केटिंग का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है, इसके ज़रिये आज भी users को कंटेंट की ओर आकर्षित किया जाता है, हम अपने प्रोडक्ट पर काफ़ि अच्छा content लिख सकते हैं जिससे कई फायदे देखने को मिलेंगे।
  • इमेजिस – content मे इमेजिस डालने के भी कई फायदे हैं। आपके users किसी भी जानकारी को इमेजिस के ज़रिये सबसे जल्दी समझ और पा सकते हैं। इससे उनका समय भी बचता है। इससे काफ़ि का समय मे उसभोक्त जानकारी हासिल कर अपना निर्णय लेलेता है।
  • ववीडियोज़ – content को सबसे आकर्षित बनाने के लिए वीडियो के रूप मे भी कंटेंट को पेश किया जाता है जिससे users को जानकारी भी अधिक मिलती है और यह सबसे आकर्षक होता है, परंतु यह बाकी के मुकाबले कंटेंट प्रस्तुत करने मे ज्यादा समय लेता है जिसेकी वजह से कई users समय की कमी के कारण इसे देख भी नही पाते पर कई बार जिन उपभोक्ताओं को प्रोडक्ट मे दिलचस्बि नजर होती वह भी वीडियो को देखकर इसमे रुचि लेने लगते हैं।

Spread the love