क्तदान (Blood Donate) कैसे करें?

Spread the love

हेलो दोस्तों आप सभ अच्छे होंगे। रक्तदान (Blood Donate) कैसे करें इसके  बारे में तो जानते होंगे सभी लोग जैसे की घर में बिक्शा मांगने पीर फ़क़ीर लोग आते है और उनको आटा दाल दान में देते हो आप वैसे ही आपको आज के टाइम में रक्त दानं की रीत चली आ रही है। कोई भी ब्यक्ति अगर बीमार होता है। या उसको रक्त की जरुरत होती है तो आप उसको रक्त दान कर सकते हो उसके लिए उसकी जान बच सकती है आपके एक डोनेट के कारन।सबको ये पता ही है की इंसान की जिंदगी बचने बाले २ ही लोग होते है एक जो डॉक्टर होता है दूसरा होता है भगवन। पर क्या आपको पता है की आप चाहे तो आप भी किसी की जिंदगी बचा सकते हो। नहीं पता तो हम आपको रक्तदान के बारे में आपको बताएंगे।

रक्तदान (Blood Donate) कैसे करें ?

जरुरी नहीं है जी किसी की हेल्प करने के लिए या किसी की जिंदगी बचने के लिए हम डॉक्टर हो हमे बिलकुल इसके लिए डॉक्टर बनने की जरुरत नहीं है।रक्तदान करना एक बहुत बड़ी बात होती है जो की आप अगर फ्री में रक्त दान करते हो तो आपको मिल जाती है लोगो की दुआएं। आप रक्त दान के लिए किसी कैंप में जा सकते हो या किसी हॉस्पिटल में झा फ्री में रक्त दान किया जाता हो। व्हा जा के आप अपना खून दान कर सकते हो।इन सभी जगह पर आप रक्त दान कर सकते हो जा के।

बहतु लोग तो ब्लड के बिना मर भी जाते है उनको बहुत जरुरत होती है पर उनको ब्लड नहीं मिल पाता इसके लिए जरुरी है की ब्लड ग्रुप मिलना चाहिए। बहुत बार ऐसा होता है की ब्लड ग्रुप मिलता है पर कुछ लोग होते है की ब्लड डोनेट करने से मना कर देते है। दुसरो का तो आस लगानी छोड़ दो अपने सगे सम्बन्धी मना कर देते है खुद के ही रिस्तेदारो को ब्लड देने से। पर देना चाहिए आपकी बूँद बूँद ब्लड भी किसी की जिंदगी बना सकती है। बहुत बार ऐसे होता है की ब्लड ग्रुप न मिलने के कारन से परेशानी आ जाती है और ब्लड जिसको जरुरत होता उसको नही मिल पाता।

Blood Donate करने से पहले क्या करें?

रकत दान भी बहुत अच्छा दान है जिसे देने किसी की जिंदगी बचाना कहलाता है। बहुत से लोग ब्लड डोनेट करने से डरते और घबराते है।लोग ब्लड डोनेट में डरते इस लिए है की सायद इससे उनको परेशानी न हो जाये तो सुनिए ऐसा बिलकुल भी नहीं होता। डॉक्टर्स पूरी जांच पड़ताल के साथ रकत दान करवाते है सही तरीके से अच्छे से सबधाणी पुर्बक।

किसी का बजन 55 किलो से ज्यादा हो जिसका हीमोग्लोबिन 13.6 से अधिक हो अगर इस कैटगरी के लोग अगर पहली बार रकत दान कर रहे है तो वो दुबारा 4 मंथ के बाद दुबारा कर सकते है रक्त दान ब्लड देते से पाहिले खाना खा कर पेट पाहिले से भरा होना चाहिए। कोई परेशानी न आये जिससे ब्लड देते टाइम कोई चक्कर ना आये।

Blood Donate कैसे करें ?

ब्लड डोनेट की जो उम्र है वो है 18 से ले कर 42 तक।ब्लड देने से पाहिले सरीर का ध्यान रखना बहुत जरुरी होती है ब्लड डोनेट करने से पाहिले आपको पानी पीना अनिवार्य है। और रक्त दान के लिए जो लेडीज़ जो है वो मासिक धरम बलि होनी नहीं होनी चाहिए। अगर कोई आदमी ने अल्कोहल पिया हुआ है।

तो वो रक्त दान नहीं कर सकता रक्त दान करने से पाहिले। जिस इंसान की ताब्यात खराब हो वो ब्लड नहीं दे सकता उसको परमिशन नहीं होती।ब्लड अगर किसी को डोनेट कर के आये होते है तो तेज धुप से खुद को पूरी तरह से सुरक्षित करे। ट्रैवलिंग से बचना चाहिए डोनेट के कुछ टाइम तक।एक दिन पाहिले डॉक्टर के पास जा कर पूछो की क्या करना चाहिए डोनेट करने से पाहिले।

डॉक्टर ये ही सलाह देगा की आप एक दिन पाहिले खाना अच्छे से खाओ कोई वीकनेस न हो और पानी जितना ज्यादा हो उतनी ज्यादा पियो।कोई अगर लेडीज करा रही हो डोनेट तो वो मासिक धरम से न हो।और कोई भी बीमारी से न हो न ही डोनेट के टाइम कोई दारू पिया हो। डोनेट के टाइम ये सब याद होना चाहिए।

Blood Donation कौन कर सकता है?

ब्लड लेने के लिए अलग लग मरीज होते है जो जिनके बहुत तरह के सवाल होते है की क्या करना चाहिए क्या खुराक देने से पाहिले लेनी चाहिए क्या लेने से पाहिले चाहिए ये सब। 18 साल से ले कर 43 उम्र के लोग ब्लड दे सकते ज्यादा ओल्ड लोगो को देना अनिबरये नहीं है। जो लोग स्बास्थ है वो लोग दे सकते है ब्लड जो मोठे हेअल्थी लोग होते है खाने पिने का ध्यान रखते है। या फ्रूट्स खाने का ध्यान रखते हस्त पोस्ट होते है वो ये ब्लड डोनेट आराम से करा सकता है। कमजोर इंसान ब्लड डोनेट करने में सक्षम नहीं है।

Blood Donate कौन नहीं कर सकता?

जो लेडीज मासिक धरम से पीड़ित हो वो ब्लड डोनेट नहीं कर सकती या वो लेडीज बीमार हो तो भी वो नहीं कर सकती। अगर कोई जेन्स है वो करना चाहता डोनेट से पाहिले बीमार है या दारू पिया हुआ है तो वो नहीं कर सकते ब्लड डोनेट। ब्लड डोनेट एक हस्त पोस्ट इंसान दे सकता जिसके पास कोई प्रॉब्लम न हो और वो कहते पीते घर का हो और उसकी ताब्यात स्वस्थ हो। अगर किसी ने भी खाना खाये बिना बिना पानी पिए बिना खली पेट डोनेट करने आता है तो उसको डॉक्टर मना कर देता है। स्यस्थ इंसान दे सकता है ब्लड। बहुत जगह तो ब्लड ग्रुप मिलना जरुरी होता है।

Blood Donation करने के फायदे

जून में 14 को ब्लड डोनेट डे सेलिब्रेट किया जाता है। रक्त दान एक बहुत अच्छी चीज उस इंसान के लिए जिसको ये जरुरत होती है। और जो देने बाला होता है ब्लड वो बहुत महान पुरुष या महिला होती है एक अनजान पर्सन को खून देता या देती है जिसको वो जानते भी नहीं उनको नै जिंदगी देते है। जो पर्सन किसी को देता है ब्लड न सिर्फ उसकी जान बचता आता है बल्कि अपना भी सरीर में बेनिफिट पाता है। ब्लड देने बाले के लिए भी जरुरी अच्छा मन गया है।

Blood Donate करने के नुकसान

ब्लड डोनेट के टाइम कभी भी भूका नहीं रहना चाहिए। ब्लड डोनेट करने बाले दिन अच्छे से पेट भर कर जाना चाहिए पानी जितना ज्यादा हो उतना अच्छा होता है। और 18 साल से काम उम्र के लोगो को ब्लड डोनेट करने। 42 साल से ज्यादा के लोग ब्लड डोनेट नहीं कर सकते। ज्यादा ओल्ड लोग ब्लड डोनेट करने के लिए सक्षम नहीं होते।

Blood Donate करने के बाद Recover कैसे करें?

ब्लड डोनेट के बाद आज ऐसा नहीं है की आपका ब्लड तुरंत डोनेट करते ही बन जायेगा ऐसा बिलकुल नहीं है।ब्लड डोनेट के बाद हो सकता है आपको वीकनेस भी आ सकती है जो की बहुत ही खराब चीज है।खाने का ध्यान रखना बहुत जरुरी होता है। जिस साइड जिस बाजु से ब्लड डोनेट किया होता है उसको दवा के रखना चाहिए 20 मिनट तक। उसके बाद 6 घंटे तक कुछ न कुछ तरल चीजे लेनी  जरुरी है जैसे पानी अधिक सेवन नीबू पानी अधिक लेना चाहिए।


Spread the love