2200+ Best Hindi Status, Attitude, Quotes & Love Whats App Status

Best Status in Hindi

  • लक्ष्य सही होना चाहिए वरना काम तो दीमक भी करती है पर होता विनाश ही है उससे
    प्यार होने के लिए खूबसूरत होना जरूरी नहीं सब कुछ खूबसूरत लगने लगता है जब प्यार हो जाता है
    किताबें पढ़ते हुए सोचती हूँ , जो पढ़ा किताबों में उसको अपनाया कितना
  • फ़िज़ूल बातें को भुला कर रिश्ता निभाना चाहिए
    ज़िन्दगी हो या व्हाट्सप्प देखने वाले तो सिर्फ स्टेटस ही देखते है
    साहिब आजकल ज़िंदा लोगों की चुगलियाँ और मरे लोगों की तारीफ होती है
    धोखा खाने वाला इतना नहीं गवाता जितना धोखा देने वाला गवा लेता है
    जो सामने ज़िक्र नहीं करते वो दिल ही दिल में बहुत फ़िक्र करते है
    कमाए हुए दोस्त बिछड़ गए, कमाने के चक्कर में…
    उम्मीदें है तो ज़िन्दगी है…
  • कोई पढ़ाता नही फिर भी सबक याद रहता है…..हर एक परिंदे को अपना पेड़ याद रहता है…..
    एक वक़्त ऐसा भी आता है जब सब ठीक हो जाने के बाद भी मुस्कुराने का दिल नहीं करता …
    जिससे हम नाराज़ होते हैं वो इंसान हमारे दिल और दिमाग दोनों में रहता है
    हम विश्वास भी उन लोगों पर करते हैं, जिनका विश्वास दुनिया नहीं करती
    उम्र शर्मिंदा हो जाए , इतने तजुर्बे दे दिए ज़िन्दगी ने
  • चलो थोड़ा सुकून से जिया जाए, जो दिल दुखाते हैं उनसे थोड़ा दूर रहा जाए
    आप जितना कम बोलोगे लोग आपको उतना ही ज्यादा सुनना चाहेंगे
    बिना एक -दूसरे को चोट पहुँचाए चीजों को समाप्त कीजिए
    ख्वाइशें कुछ यूँ भी अधूरी रही , पहले उम्र नहीं थी अब उम्र नहीं रही
    कुछ कहने से पहले जरूर सोचिए, आपके शब्द किसी की खुशियों को खत्म कर सकते हैं।
  • रिश्ता क्या है ये जानने से अच्छा है इसमें कितना अपनापन है ये महसूस कीजिए
    मेरी हिम्मत को कम मत आंको, मैं वो हूँ जो टूटे धागों को जोड़कर ख़्वाब बुन लेता हूँ
    धुएँ ने भी ढूँढ लिया है अपना वजूद, पहले खुद को खो कर फिर हवा का होकर
    बात इतनी मधुर रखो कि कभी खुद भी वापिस लेनी पड़े तो कड़वी ना लगे
  • शायरों से नज़दीकी रखोगे तो तबियत ठीक रहेगी, ये वो हकीम है, जो हर दर्द का इलाज़ लफ़्ज़ों से करते हैं
    हमें बुरा न समझो जनाब हम दर्द लिखते है देते नहीं
    होगी बहुत सी डिग्रियाँ तुम्हारे पास, छलकती आँखों को ना पढ़ सके तो अनपढ़ हो तुम
    रिश्ता भले ही कोई भी हो, मजबूर नहीं मजबूत होना चाहिए
    दुनिया में ऐसी कोई मुसीबत नहीं जो आपके मन से ज्यादा शक्तिशाली हो
  • रिश्ते शब्दों के मोहताज़ नहीं होने चाहिए अगर एक खामोश है तो दुसरे को आवाज़ देनी चाहिए…
    हर किसी को हमेशा ये सोचना चाहिए , गलती चाहे किसी की भी हो पर रिश्ता तो अपना होता है
    जो इंसान सबको ख़ुशी देता हो वो कभी कभी खुद ख़ुशी की वजह ढूँढता है
    दिल वो है जो हज़ारों मरी हुई ख्वाइशों के नीचे दब कर भी धड़कता है
    जो मन की तकलीफों को नहीं बता पता – उसे ही क्रोध सबसे अधिक आता है
    सच बोलने से रिश्ते टूटते हैं और झूठ बोलने से मैं खुद
  • अच्छे इन्सान में एक बुरी बात होती है , वो सबको अच्छा समझ लेता है
    बात कहने का अंदाज़ भी खूबसूरत होना चाहिए ताकि जवाब भी खूबसूरत मिले
    आज भी हर समस्या का अंतिम हल माफ़ी ही है
    सबूतों की ज़रुरत पड़ रही है , यकीनन दूरियां अब बढ़ रही है
  • जो कभी लिपट जाती थी मुझसे बादलों के गरज़ने पर , आज वो बादलों से भी ज्यादा गरजती है मुझपर
    जहाँ रहेगा वहाँ रौशनी लुटाएगा , किसी चिराग़ का अपना मकान नहीं होता
    हसरतें आज भी खत लिखती हैं मुझे, पर मैं अब पुराने पते पर नहीं रहता
    कोई मेरा बुरा करे वो उसका कर्म , मैं किसी का बुरा ना करुँ ये मेरा धर्म
    मौत सबको आती है पर जीना सबको नहीं आता
  • दिल की ख़ामोशी पर मत जाओ , राख के नीचे अकसर आग दबी होती है
    इलायची के दानों सा है मुकद्दर मेरा , महक उतनी ही बिखरी जितने पिस्ते गए
    समय और समझ खुशकिस्मत वालों को ही इकठी मिलती है , वरना जब समय होता है तो समझ नहीं होती और जब समझ आती है तब समय नहीं होता
    ज्यादा ख़्वाहिशें न रखिये जिंदगी से, बस अगला कदम पिछले से बेहतरीन होना चाहिए
    सामने जो है , उसे लोग बुरा कहता है और जो दिखाई नहीं देता लोग उसे खुदा कहता हैं
    खेल जो भी खेलो दिमाग से खेलना जीत जाओगे …… दिल को बीच मे लाए तो हार जाओगे
  • उनको लगी खरोंच का पता पूरे शहर को है, हमारे गहरे ज़ख्म की कहीं चर्चा तक नहीं
    तन्हाई का दर्द धोखे से ज्यादा बड़ा होता है ….. धोखा उसके बगैर जीना सिखा देता है , लेकिन तन्हाई उसकी यादों में जीना सीखा देती है
    कुछ तुम्हारी निगाह काफ़िर थी कुछ मुझे खराब होना था
  • किसी ने सही कहा है, जो कुछ नहीं करते, वो बहुत कुछ कर सकते हैं।😎👌😍😁
    कम बोलो पर सब कुछ बता दो, ख़ुद ना रूठो और सबको हंसा दो, यही राज है जिन्दगी का, जियो और जीना सिखा दो
    गुस्ताख़ी और ग़लती में बहुत फर्क होता है मेरे दोस्त
  • फ़रिश्ते ही होंगे जिनके लिए आप busy है , वरना आजकल इंसान से रोज़ रोज़ बात कौन करता है
  • वो मंजिल ही बदनसीब थी जो हमें पा ना सकी, वरना जीत की क्या औकात जो हमें ठुकरादे
    रास्तों की दूरी कम करते करते..मंजिल मेरी मुझसे दूर हो गयी
    राशि में लिखा है नए रिश्ते बना लूँ…छोड़िए जनाब !!! पहले… पहले तो निभा लूँ
  • सो गए सब ग़मों को भुलाकर , शायद कल खुशियों की सुबह हो जाए
    वो शख्स , जिसे छोड़ने की जल्दी की तुमने …तेरे मिज़ाज के सांचे में ढल भी सकता था…
    मेरे कड़वे अल्फ़ाज़ चुभ गए तुम्हे… साफ दिल नही नज़र आया..
    कभी बेपनाह बरसे, कभी कुछ गुम सी है, कमबख्त ये बारिश भी कुछ तुम सी है
  • सहमी हुई है झोपड़ी , पानी के ख़ौफ़ से….. महलों की आरज़ू है की, बरसात तेज़ हो
    संभाल के रखना अपनी पीठ को यारो शाबाशी और खंजर दोनो वहीं पर मिलते है
  • हमसे ना पूछो कि क्यों बदल गए हैं हम…… धीमी आँच पर पक-पक कर… जल गए हैं हम
    जुबां तीखी हो तो खंजर से गहरा जख्म देती है, और मीठी हो तो वैसे ही कत्ल कर देती है
    तेरे पास कोई यकीन का इक्का हो तो बताना मेरे हिस्से के सभी पत्ते तो जोकर निकले
    रूबरू मिलने का मौका हमेशा नहीं मिलता, इसलिए,शब्दों से छू लेता हूँ अपनो को…
  • घाटे और मुनाफे का बाज़ार नहीं… इश्क़ एक इबादत है, कारोबार नहीं….
  • जैसे जैसे उम्र गुजरती है एहसास होने लगता है कि माँ बाप हर चीज़ के बारे में सही कहते थे……
    बचपन मे सब एक ही सवाल पूछते थे …. बड़े होकर क्या बनना है ? जवाब अब मिला मुझे फिर से बच्चा बनना है
    अपने देश में राय देने वालों की कोई कमी नहीं है इस पर आपकी क्या राय है
    सकून की एक रात भी नहीं ज़िन्दगी में , ख्वाइशों को सुलाओ… तो यादें जाग जाती हैं …
    इस जवानी से तो बचपन अच्छा था जब कुछ बुरा लगता था वही रो देते थे , अब तो रोने के लिए भी जगह ढूँढनी पड़ती है
    बचपन मे सब एक ही सवाल पूछते थे …. बड़े होकर क्या बनना है ? जवाब अब मिला मुझे फिर से बच्चा बनना है
  • सुबह की ख्वाइशें शाम तक टाली है , इस तरह हमने ज़िन्दगी सम्भाली है
    कुछ रिश्ते मुनाफ़ा नहीं देते पर ज़िन्दगी को अमीर बना देते हैं।
  • सारा जहाँ उसी का है जो मुस्कुराना जानता है…रौशनी भी उसी की है जो शमा जलाना जानता है…. हर जगह मंदिर हैं लेकिन भगवान तो उसी का है जो सर झुकाना जानता हैं।
    कई बार ऐसा भी होता है. …….. इंसान किसी को हौंसला देते – देते खुद ही टूट जाता है
  • उलझने मीठी भी हो सकती है , जलेबी की मिठाई इसका सबूत है
    रिश्ता सिर्फ वो नहीं जो गम या ख़ुशी में साथ दे , रिश्ता वो है जो अपनेपन का एहसास दे
  • क्या खूब रंग दिखती है ज़िन्दगी …. क्या इत्तेफ़ाक़ होता है , प्यार में उम्र नहीं होती , पर हर उम्र में प्यार होता है
    उम्र में… ओहदे में … कौन कितना बड़ा है फर्क नहीं पड़ता , लहज़े में कौन कितना झुकता है ? फर्क ये पड़ता है…
  • बोलने का हक़ छिना जा सकता है, मगर खामोशी का कभी नहीं
    कई बार हमारे साथ कुछ ऐसे हादसे हो जाते हैं जिनके बारे में हम सोचते रहते हैं क़ि ये कब…कहाँ …कैसे और क्यों हुआ…और यकीन मानिये “प्यार” ….इनमे से सबसे खतरनाक है
    परखा बहुत गया मुझे…. लेकिन समझा नहीं गया…….
    रख लो आइने हजार तसल्ली के लिए..पर सच के लिए तो,आँखे ही मिलानी पड़ेगी..
    शिकायत मौत से नहीं अपनों से थी , ज़रा सी आँखें क्या बंद हुई , वो कब्र खोदने लगे।
  • चाहतें मेमने से भी भोली हैं, पर ज़माना कसाई से भी ज़ालिम है
    पागल हो जाने के भी अपने फायदे हैं , लोग पत्थर उठा लेंगे मगर ऊँगली नहीं उठाएँगे
  • सारा जहाँ उसी का है जो मुस्कुराना जानता है…रौशनी भी उसी की है जो शमा जलाना जानता है…. हर जगह मंदिर हैं लेकिन भगवान तो उसी का है जो सर झुकाना जानता हैं।
    कई बार ऐसा भी होता है. …….. इंसान किसी को हौंसला देते – देते खुद ही टूट जाता है
  • उलझने मीठी भी हो सकती है , जलेबी की मिठाई इसका सबूत है
    रिश्ता सिर्फ वो नहीं जो गम या ख़ुशी में साथ दे , रिश्ता वो है जो अपनेपन का एहसास दे
  • क्या खूब रंग दिखती है ज़िन्दगी …. क्या इत्तेफ़ाक़ होता है , प्यार में उम्र नहीं होती , पर हर उम्र में प्यार होता है
    उम्र में… ओहदे में … कौन कितना बड़ा है फर्क नहीं पड़ता , लहज़े में कौन कितना झुकता है ? फर्क ये पड़ता है…
  • बोलने का हक़ छिना जा सकता है, मगर खामोशी का कभी नहीं
    कई बार हमारे साथ कुछ ऐसे हादसे हो जाते हैं जिनके बारे में हम सोचते रहते हैं क़ि ये कब…कहाँ …कैसे और क्यों हुआ…और यकीन मानिये “प्यार” ….इनमे से सबसे खतरनाक है
    परखा बहुत गया मुझे…. लेकिन समझा नहीं गया…….
    रख लो आइने हजार तसल्ली के लिए..पर सच के लिए तो,आँखे ही मिलानी पड़ेगी..
    शिकायत मौत से नहीं अपनों से थी , ज़रा सी आँखें क्या बंद हुई , वो कब्र खोदने लगे।
  • चाहतें मेमने से भी भोली हैं, पर ज़माना कसाई से भी ज़ालिम है
    पागल हो जाने के भी अपने फायदे हैं , लोग पत्थर उठा लेंगे मगर ऊँगली नहीं उठाएँगे
  • बड़ी मंज़िलों के मुसाफ़िर, छोटा दिल नहीं रखते
    एहसास कभी कह कर नहीं करवाया जाता
  • एक सच : आपका सबसे अच्छा दोस्त किसी और जाति से होगा और आपका सबसे बड़ा दुश्मन आपका कोई अपना ही होगा
    खुशियों का कोई रास्ता नहीं , खुश रहना ही रास्ता है
    मन की शान्ति सबसे बड़ा धन है
    लोग रिश्ते छोड़ देते है पर बहस नहीं
  • इन्सान सब कुछ बदल सकता है पर अपनी फिदरत नहीं
  • मुझे शौहरत कितनी भी मिले मैं हसरते नहीं रखता , मैं सब भूल जाता हूँ, पर दिल में नफरतें नहीं रखता
    समय बहाकर ले जाता है , नाम और निशान !! कोई “हम” में रह जाता है कोई “अहम” में।
  • सामान बाँध लिया है मैंने , अब बताओ कहाँ रहते हैं वो लोग जो कहीं के नहीं रहते।
    सहम सी गयी है ख्वाइशें , जरूरतों ने शायद उनसे ऊँची आवाज़ में बात की होगी।
    है रूह को समझना भी जरूरी , सिर्फ हाथ पकड़ना ही मोहब्बत नहीं होती।
    लगता है ज़िन्दगी आज कुछ खफा है … चलिए छोड़िये , कौन सी पहली दफा है।
    फ़ितूर होता है हर उम्र में जुदा – जुदा …… खिलौना , इश्क़ , पैसा फिर खुदा खुदा
  • कुछ अधूरी सी है हम दोनों की ज़िन्दगी , तुम्हें सकून की तालाश है और मुझे तुम्हारी
    वो जो मुझे हँसते हुए देख कर खुश समझते हैं , वो अभी मुझे समझे नहीं।
    किसी ने खूब कहा है – अँधेरा दिल में है और दिये मन्दिरों में जलाते हैं
    दिल की बात साफ़ साफ़ बता देनी चाहिए , क्योंकि बता देने से फैसले होते हैं और ना बताने से फाँसले
    कभी तो अपने लहज़े से ये साबित कर दो कि तुम भी बेपनाह मोहब्बत करते हो हमसे
    अहमियत और दूरियों में अनोखा रिश्ता है , दोनों एक साथ बढ़ती हैं
    करके कुर्बान अपनी खुशियो 😊 को, दूसरो की खुशी 😊 में अपनी खुशी 😊 को देखा है .. शुक्रगुजार है हम तेरे …खुदा जो तुने नारी रुप में साक्षात् देवी को भेजा है
  • जो माँगू वो दे दिया कर ऐ ज़िन्दगी, तू बस मेरी माँ जैसी बन जा…😌
  • दिल ❤ की➡क्युँ ❔सुनें 👂 दिल ❤ में दिमाग होता 😏 है क्या ❔❔❔
    प्यार 😘 तो हम दोनों ने किया था मैंने 😎 बहुत किया था और उसने बहुतों से किया था
    नहीं जीना मुझे अब उस नकली अपनों के मेले में …खुश रहने की कोशिश कर लूंगा खुद हीं अकेले में
    ज़िन्दगी आखिरकार 😢 रुला ही देती है… जनाब …..फिर चाहे हम माँ बाप के कितने ही लाड़ले क्यूं ना हो…
  • दुनिया का सबसे मुश्किल काम …. ” अपनों को अपनों में ढूंढना “
    खुद को ढूंढने का नहीं ….. बनाने का नाम है ज़िन्दगी
    सब्र रख तेरी कदर उसे वक़्त बताएगा
  • मांग लूँ यह मन्नत की फिर यही जहाँ मिले.. फिर वही गोद फिर वही माँ मिले..
  • आँधियाँ गम की चलेगी तो भी सँवर जाऊँगा , मैं तो दरिया हूँ समुद्र में भी उतर जाऊँगा
    कुछ नही मिलता दुनिया में मेहनत के बगैर 😎….. मेरा अपना साया मुझे धूप में आने के बाद मिला 😊😊
    यह दुनिया बिलकुल वैसी ही है जैसे आप देखना चाहते हैं , चाहे तो कीचड़ में कमल देख लो चाहे देख लो चाँद पर दाग
    सादगी अगर हो लफ्जो मे, यकीन मानो,प्यार बेपनाह,और दोस्त बेमिसाल मिल ही जाते हैं !!
  • सफल इंसान वो ही है जिसे टूटे को बनाना और रूठे को मनाना आता है।
    सारे साथी काम के सबका अपना मोल , जो संकट में साथ दे वो है सबसे अनमोल
  • ख़्वाहिशों की चादर तो कब की तार तार हो चुकी… देखते हैं वक़्त की रफ़ूगिरी, क्या कमाल करती है|
    हजारों गम हो फिर भी मैं खुशी से फूल जाता हूँ…जब हंसती मेरी मां, मैं हर गम भूल जाता हूँ…
    बदल रही हे जिंदगी, बदल रहे हे अन्दाज जीने के…बदल रहे हे लोग, खंजर छुपाये बेठे है अपने भी अपने सीने मे
    कितने बदल गये है आज के रिश्तें भी, चंद मुस्कान के लिये चुटकुले सुनाने पड़ते है !!
    मैं दुनिया से लड़ सकता हूँ पर अपनो के सामने लड़ नहीं सकता, क्योंकि अपनो के साथ मुझे ‘जीतना’ नहीं बल्कि ‘जीना’ है!
  • जीवन में नफरतों में क्या रखा है,मोहब्बत से जीना सीखो…क्यूंकि यारों ये दुनिया न तो मेरा घर है और न तुम्हारा ठिकाना…
    तुम परवाह करना छोड़ दो लोग hurt करना छोड़ देंगे।
    मूर्खों से तारीफ सुनने से अच्छा है कि आप बुद्धिमान इन्सान से डाँट सुनले।
  • बनावटी लोगो से सावधान : पहले तो रो -रो कर आपके दर्द पूछेंगे फिर हँस -हँस कर लोगों को बताएंगे।
    साझेदारी करो तो किसी के दर्द के साथ, क्योंकि खुशियों के दावेदार तो बहुत हैं।
    मौसम बहुत सर्द है,चल ए दोस्त … गलत फहमियो को आग लगाते है।।
  • मिट्टी का मटका और परिवार की कीमत सिर्फ बनाने वाले को पता होती है , तोड़ने वाले को नहीं।
    रात की मुट्ठी में , एक सुबह भी है …. शर्त है कि पहले, जी भर के अँधेरा तो देख।
    एक अच्छे चरित्र का निर्माण हज़ारों बार ठोकर खाने के बाद ही होता है।
  • तुम्हारे हर सवाल का जवाब मेरी आँखों में था और तुम मेरी जुबान खुलने का इंतज़ार करते रहे।
  • बस ज़रा स्वाद में कड़वा है , नहीं तो सच का कोई जवाब नहीं।
    सिर्फ ख़ुशी में आना तुम,अभी दूर रहो थोड़ा परेशान हूँ मैं
  • उड़ने में बुराई नहीं है , लेकिन उतना ही ऊँचा उड़े जहाँ से ज़मीन साफ़ दिखाई दे
    जो व्यक्ति अपने बारे में नहीं सोचता , वो सोचता ही नहीं है
    रिश्ते मोतियों की तरह होते होते हैं… कोई गिर भी जाये तो झुख कर उठा लेना चाहिए
    आप भले अपनी जिंदगी से खुश नहीं हो पर कुछ लोग ऐसे भी है जो आप जैसी जिंदगी जीने के लिए तरसते है
    शतरंज मे वज़ीर…और ज़िंदगी मे ज़मीर…अगर मर जाए तो खेल ख़त्म समझिए
  • ज़िन्दगी इतनी मुश्किल इसलिए है,क्यूंकि लोग आसानी से मिली चीज की कीमत नहीं जानते !!
    पर्दा गिरते ही खत्म हो जाते हैं तमाशे सारे ….खूब रोते हैं फिर औरों को हँसाने वाले..
    दिल के रिश्ते कभी नहीं टूटते .. बस खामोश हो जाते है…
  • जिसे ” मैं ” की हवा लगी…उसे फिर ना दवा लगी न दुआ लगी।
    दुनियादारी सिखा देती है ” मक्कारियां ” वरना पैदा तो हर कोई साफ दिल का होता है।
    इस कदर बँट गए हैं ज़माने में सभी …. अगर “भगवान”भी आकर कहे कि मैं भगवान् हूँ … तो लोग पूछ बैठेंगे किसके ?
    नाज़ुक लगते थे जो हसीन लोग … वास्ता पड़ा तो पत्थर के निकले।
    जज़्बात अपने हो तभी जज़्बात है , दुसरे के जज़्बात तो खिलौना है।
  • ना जाने कौन से गुनाह कर बैठे हैं। … जो तमन्नाओं की उम्र में तज़ुर्बे मिल रहे हैं।
  • ज़रा मुस्कराना भी सिखा दे ज़िन्दगी …. रोना तो पैदा होते ही सीख लिया था।
    कमाल का ताना दिया आज मंदिर में भगवान ने, मांगने ही आते हो कभी मिलने भी आया करो
    कितनी अजीब बात है हमारी आँखें है तो black & white पर ख्वाब रंगीन देखती हैं
    आपके पास जितना समय है वो अभी है इससे अधिक समय कभी नहीं होगा।
  • वफ़ा सबसे करो मगर वफ़ा की उम्मीद किसी से ना करो।
    गलत होकर भी खुद को सही साबित करना, उतना मुश्किल नहीं होता, जितना कि, सही होकर खुद को सही साबित करना
    लफ्ज़ इन्सान के गुलाम होते हैं , मगर बोलने से पहले … और बोलने के बाद इन्सान अपने लफ़्ज़ों का गुलाम बन जाता है
    कुछ लोग मुझे अपना कहते थे … सच में सिर्फ कहते ही थे
  • बातें तो हर कोई समझ लेता है पर वो इंसान चाहिए जो मेरी ख़ामोशी को समझे
  • इंसान की ख़ामोशी का मतलब ये है कि वो टूट चूका है
    कुछ बातें तब तक समझ नहीं आती जब तक खुद पर न गुजरे
    अकेले रहने में और अकेले होने में फर्क होता है 😢
  • मेरी माँ ने मुझे माफ़ करना सिखाया है… बदला लेना नहीं…
    यूँ गुमसुम मत बैठो ..पराये लगते हो,,,मीठी बातें नहीं है तो चलो झगड़ा ही कर लो…..
    आदमी को अमीर नहीं होना चाहिए, बल्कि आदमी 😌 का जमीर होना चाहिए ।। 😌😌
    अपने खिलाफ बातों को अक्सर मैं ख़ामोशी से सुनता हूँ क्योकि जवाब देने का हक़.. मैंने वक़्त को दे रखा है
  • कदर करने वाले लोगों को …. हमेशा बेकदर लोग ही मिलते हैं। 😪 😪
    जो आपकी ख़ुशी के लिए हार मान ले … आप उसे से कभी जीत नहीं सकते 😊😊
    असफलता की इमारत बहाने की नींव पर बनती है
  • हम खुद को इतना बदल देंगे एक दिन.. कि लोग तरस जायेंगे 😊 हमें पहले की तरह देखने के लिए.!
    वक्त निकाल कर अपनों से मिल लिया करो, अगर अपने ही ना होंगे तो, क्या करोगे वक्त का ???
    ज़िंदगी चाहे एक दिन की हो या चाहे चार दिन की, उसे ऐसे जियो 😉 जैसे कि ज़िंदगी तुम्हें नहीं मिली ….. ज़िंदगी को तुम मिले हो ।।
    चेहरे बदल-बदल कर मिलते है लोग मुझसे…. इतना बुरा सुलूक क्यूँ मेरी सादगी के साथ
  • मेरी ‪खामोशियों‬ में भी ‪फसाना‬ ‪‎ढूँढ‬ लेती है,बड़ी ‪शातिर‬ है ‪‎दुनिया‬ ‪मजा‬ लेने का ‪बहाना‬ ढ़ूँढ ‪लेती‬ है
    मुझे हमदर्दी नहीं, थोडा सा अपनापन चाहिए दरसल खो सा गया हूँ …. अपनो की ही भीड में 😑😑😢😢
  • आशियाने बनें भी तो कहाँ जनाब,जमीनें महँगी 💵 हो चली हैं और दिल ❤ में लोग जगह नहीं देते
    मिले 👰तो… BEST👌 …नहीं 😶तो…. NEXT😎 ….LIFE ..मे ये Formula रखोगे तो कभी भी Feeling Sad😪 वाले Status नहीं रखने पड़ेंगे…
  • अब अपनी शख्सियत की भला मैं क्या मिसाल दूँ यारों, ना जाने कितने लोग मशहूर हो गये, मुझे बदनाम करते करते…..!!
    लोग भी बड़े अजीब होते है, गलत साबित होने से पहले माफ़ी नहीं मांगते, बल्कि तालुक तोड़ देते है…
  • मै 👨फिर याद 😭आऊंगा उस👆 दिन📝 जब तेरे ही बच्चे👶 कहेंगे-मम्मी 👩आपने कभी किसी 👤से प्यार 👫किया ???
    चूक जाये वो वार कैसा…जीत कर हार जाये वो खिलाडी कैसा …और अपनी बात लोगो तक ना पहुँचा सके वो शायर कैसा
  • ताश में जोकर 😛 ओर चाहत 😘 की ठोकर, अकसर बाजी घूमा देते हैं 😎😎😎
    लोग बदलते नहीं है जनाब !!! ” बेनक़ाब ” होते हैं।
    दो चार नहीं…मुझे सिर्फ एक दिखा दो…😐 वो शख्स…जो अन्दर भी बाहर जैसा हो… !😏😏
    निगाहों में मंज़िल थी… गिरे और गिर कर संभलते रहे… हवाओं ने तो बहुत कोशिश की… मगर चिराग आँधियों में भी जलते रहे😇😇
  • जलो वहाँ जहाँ जरूरत हो ….. उजालों में चिरागों के कोई मायने नहीं होते।
    चेहरे 👩पर जो अपने दोहरी नकाब रखता हैं, खुदा उसकी चलाकियों का हिसाब रखता हैं
  • गुनहगारों की आँखों में झूठे ग़ुरूर होते हैं, 👿👿 यहाँ शर्मिन्दा तो सिर्फ़ बेक़सूर होते हैं..!😫😫
    अब कहां दुआओं में वो बरक्कतें,…वो नसीहतें …वो हिदायतें, अब तो बस जरूरतों का जलूस हैं …मतलबों के सलाम हैं
  • ये दुनिया अक्सर उन्हें सस्ते में लूट लेती है, खुद की क़ीमत का जिन्हें अंदाजा नहीं होता !!
    कुछ मीठी सी ठंडक है आज इन हवाओं में, शायद दोस्तो की यादों का कमरा खुला रह गया है…!😍❤✨💫🍫🌹
  • फलक की भी जिद है जहाँ बिजली गिराने की , हमारी भी जिद है वहीं आशियां बनाने की . . . ! !
    बस इतना ही चाहिये तुजसे ऐ जिंदगी … कि जम़ीन पर बैठूँ तो लोग उसे मेरा बडप्पन कहें, औकात नहीं …..
    मैं हिंदी बोलता हूँ, इसलिए आप “आप” हैं, वरना कब के “you” हो गए होते..
    न जाने इतनी ‪मोहब्बत‬ कहाँ से आ गयी उस ‪अजनबी‬ के लिए..!! की मेरा ‪दिल‬ भी उसकी खातिर अक्सर मुझसे रूठ जाया करता हे ..!!
    अकल आयी थी मशवरा देने , मोहब्बत ने मुस्करा कर टाल दिया।
  • तयशुदा मुलाक़ातों में वो बात नहीं बनती…… क्या ख़ूब था राहों में अचानक सामने से आना तेरा…..
    कुछ लोग इतने ढीठ होते हैं कि जितना मर्जी उनको भाड़ में भेज दो वापिस आ ही जाते हैं।
    ज़िन्दगी भी कितनी अजीब है.. मुस्कुराओ तो लोग जलते है, तन्हा रहो तो सवाल करते है…
    कमाल करता है, ऐ दिल ❤ तू भी… उसे फुरसत नहीं और तुझे चैन नहीं..!!
  • उम्र भर उठाया बोझ उस कील ने.. और लोग तारीफ़ तस्वीर की करते रहे…
  • उड़ा भी दो रंजिशें, इन हवाओं में यारो…. छोटी सी जिंदगी हे, नफ़रत कब तक करोगे !
    रिश्ते चाहे कितने भी बुरे हो लेकिन कभी भी उन्हें मत तोड़ना क्योंकि पानी चाहे कितना भी गंदा हो, प्यास नहीं तो आग तो बुझा ही देता है।
  • कोई सुलह करा दे जिदंगी की उलझनों 😌 से…बड़ी तलब लगी है आज मुस्कुराने 😊 की 😊😊
    बिकती है ना ख़ुशी कहीं, ना कहीं गम बिकता है. लोग गलतफहमी में हैं, कि शायद कहीं मरहम बिकता है..
    आसमान में घनघोर घटायें छायीं है, दिल की बात जुबान पर फिर से आयी है
  • लोग मुझसे पूछते है…. क्या लेकर आये थे क्या लेकर जाओगे? … मैं कहता हूँ एक दिल लेकर आया था .. लाखों दिलों में जगह बनाकर जाऊंगा।
    🙇मैंने अपने आप को हमेशा बादशाह समझा…पर 👸 तुझे खुदा से माँगा अकसर फकीरों की तरह 😎
    सुना है कि मौत से पहले एक और मौत होती है और उसे प्यार से लोग मोहब्बत कहते हैं
  • एक Station‬ 🚧🚦 जैसी है ‪जिन्दगी मेरी‬, 😌 यहाँ ‪लोग‬ 👫 तो ‪बहुत है‬ ☝ पर ‪‎अपना कोई‬ 😌 ‪‎नहीं‬ ।। 😌
    जब ख्वाबों‬ 😌 के ‪रास्ते‬ ☝ ‪ज़रूरतों‬ 😌 की ओर ‪‎मुड़ जाते‬ ☝ हैं,तब ‪‎असल ज़िन्दगी‬ 😌 के ‪मायने‬ ☝ ‪समझ‬ में ‪आते हैं‬ ।। 😌😌
    आँसू निकल पडे ‪ख्वाब‬ मे ‪उसको‬ दूर जाते ‪‎देखकर‬, आँख ‪‎खुली‬ तो ‪एहसास‬ हुआ ‪इश्क‬ सोते ‪‎हुए‬ भी ‪‎रुलाता‬ है
    ना जाने ‪‎कैसे‬ ‪ ‎इम्तेहान‬ ले रही है ‪‎जिदगी‬, आजकल‬, ‪‎मुक्दर‬, ‪मोहब्बत‬ और ‪दोस्त‬ तीनो ‎नाराज‬ रहते है
  • कुछ इस तरह मैंने ज़िन्दगी को आसान बना दिया ” किसी से माफ़ी मांग ली ” ” किसी को माफ़ कर दिया ”
    पत्थर को लोग इसलिए पूजते हैं क्योंकि विश्वास करने लायक इंसान नहीं मिलता।
    जहाँ जहाँ खबर पहुँची… हर एक ने एक ही सवाल किया… तुम्हें कैसे मुहब्बत हो गयी, तुम तो समझदार थे…
    बुरा वक़्त सबसे बड़ा जादूगर है , एक ही पल में सारे चाहने वालों के चेहरे से पर्दा हटा देता है।
  • वक़्त और प्यार दोनों ज़िन्दगी में ख़ास होते हैं .. वक़्त किसे का नहीं होता और प्यार हर किसी से नहीं होता।
    कोई नहीं है दुश्मन अपना फिर भी परेशान हूँ मैं, अपने ही क्यूँ दे रहे है जख्म इस बात से हैरान हूँ मैं !!
    आज महफिल खामोश कैसे है, दोस्तों..जख्म भर गये ??? या … मोहब्बत फिर से मिल गयी..??
    वफ़ा उनसे ना पूँछो जो आंसू बहाते हैं … वफ़ा उनसे पूँछो जो उन्हें पी जातें हैं
  • कौन कहता है आईना झूठ नहीं बोलता, वह सिर्फ होठो की मुस्कान देखता है, दिल का दर्द नहीं..
    बहुत सोचा, बहुत समझा, बहुत देर तक परखा,तन्हा हो के जी लेना मोहब्बत से बेहतर है
  • चढते सूरज के पुजारी तो लाखों हैं …..डूबते वक़्त हमने सूरज को भी तन्हा देखा ….!!
    पुराना ज़हर नए नाम से मिला है मुझे… वो आस्तीन नहीं केंचुली बदल रहा था…
    मेरा “मैं” हरपल “हम” में बदलता रहा…और तुम बे-परवाह “तुम” में ही रही…
  • कभी भूल कर भी मत जाना मोहब्बत के जंगल में……..यहाँ साँप नहीं हमसफ़र डसा करते हैं।
    बचा ही मुझमें क्या??? दिल महबूब ले गया… और दर्द में लिखे अल्फ़ाज़….. लोग चुरा ले गये.….
    एक नफरत ही है जिसे दुनिया लम्हों में जान लेती है ..वरना चाहत का पता लगने में तो ज़माने बीत जाते हैं…
    ज़िन्दगी की हकीकत को बस इतना ही जाना है !.दर्द में अकेले हैं और खुशियों में सारा जमाना है…!
  • अपनाने के लिए हजार खूबियाॅ भी कम है और छोडने के लिए एक कमी ही काफी है।
    बिन मांगे ही मिल जाती हैं मोहब्बत किसी को, कोई खाली हाथ रह जाता है हजारों दुआओं के बाद !!
    ‎छोटे थे‬ 👦 तो ‪‎सब‬ 👫 ‪‎नाम‬ 😌 से ‪‎बुलाते थे‬, ☝‪ ‎बड़े हुए‬ 👱 तो बस ‪काम‬ 😎 से ‪‎बुलाते है‬ 😏😎
    अपनी कमजोरी‬ 😌 को कभी ‪दुनिया‬ 👫 के ‪सामने‬ मत ‪‎लाओ‬, ☝‪‎लोग‬ 👫 ‪‎कटी पतंग‬ ☝ को ‪‎बडी जमकर‬ 😏 ‪लूटते‬ हैं ।। 😌😌
    ‎लोग‬ 👫 ‪कहते है‬ ☝ की ‪‎सच्चे प्यार‬ 💑 की ‪हंमेशा जीत‬ 😌 ‪‎होती‬ है, परंतु ‪‎होती कब‬ ☝ है ये भी ‪‎बता देते‬ ।। 😒😜😂
  • गलत लोग👉👽….. सभी के 👆 ‪जीवन‬ में आते हैं.. -_- लेकिन ☝ ‪सीख‬ हमेशा 👌 सही ही देकर जाते हैं ^_^ 😊
    क्या पता तुम कब भूल जाओ ये मोहब्बत….जिसे हम ज़िन्दगी और तुम एक लफ्ज़ कहते हो….
  • दूसरों को सुनाने के लिऐ अपनी आवाज ऊँची मत करिऐ, बल्कि अपना व्यक्तित्व इतना ऊँचा बनाऐं कि आपको सुनने की लोग मिन्नत करें
    शतरंज’ का एक नियम – बहुत ही ‘उम्दा’ है . . .’चाल’ कोई भी चलो पर ….. अपनों को नहीं ‘मार’ सकते !
    चलिए जिंदगी का जश्न कुछ इस तरह मनाते है,कुछ अच्छा याद रखते है और कुछ बुरा भूल जाते है !!
  • मानो तो रूह का रिश्ता है वरना कौन किसी का क्या लगता है
    न जाने जिंदगी का, ये कैसा दौर है, इंसान खामोश हैं और ऑनलाइन कितना शोर है…
    किसी को इतना महत्व नहीं देना चाहिए कि वो हमारे चहरे से मुस्कराहट ही छीन ले
    <
  • बिना लिबास आए थे इस जहां में, बस एक कफ़न की खातिर, इतना सफर करना पड़ा
  • हर इंसान दिल का बुरा नहीं होता .. बुझ जाता है दीपक अक्सर तेल की कमी के कारण .. हर बार कसूर हवा का नहीं होता…
    देर से बोला गया सच कभी-कभी झूठ के बराबर हो जाता है।
    हालात ने तोड़ दिया हमें कच्चे धागे की तरह … वरना हमारे वादे भी कभी ज़ंजीर हुआ करते थे..
    वक़्त‬ होता ही है ‎बदलने‬ के लिए ‪ठहरते‬ तो बस ‪लम्हें‬ है..
  • फिल्म ही तो है ज़िंदगी.. हर कुछ देर बाद सीन बदल जाता है…
    ये मँज़िले बड़ी जिद्दी होती हैँ… हासिल कहाँ नसीब से होती हैं… मगर वहाँ तूफान भी हार जाते है… जहाँ कश्तियाँ ज़िद पर होती हैँ…!!
    बूंदें कुछ यूँ गिरी, कि कुछ ख्याल भीग गयें..!
    ‎कुछ‬ 👆हसरतें ✍‪ ‎अधूरी‬ ही रह जायें तो ‪‎अच्छा 👌🏻 है … पूरी‬ ✔ हो जाने पर ‪दिल‬ 💖 खाली सा हो जाता है…
    जो लिबासों को बदलने का शौंक रखते थे … आखिरी वक़्त ये भी न कह पाए कफ़न ठीक नहीं….
  • ” मौन ” रहकर जो कहा जा सकता है वो ” शब्दों ” से नहीं और जो ” दिल ” से दिया जा सकता है वो ” हाथों ” से नहीं
    लम्बी ज़ुबान और लम्बा धागा हमेशा उलझ ही जाते हैं … समस्या से निपटने के लिए धागे को लपेट कर और ज़ुबान को काबू में रखें।
    दीवानगी‬💕 के लिए ➟तेरी गली 🚶 🏼मे आते हैं ऐ दोस्त ➟वरना 🚴🏻 ‪‎आवारगी‬ के लिए सारा शहर⇨ पड़ा है।
  • हमारे कर्मों की आवाज़ हमारे शब्दों से ज्यादा ऊँची होती है
    ज़िन्दगी कभी आसान नहीं होती .. उसे आसान बनाना पड़ता है… कुछ नज़रअंदाज़ करके कुछ बर्दाश्त करके
    इस दुनिया के सभी लोग आपके लिए अच्छे हैं बस शर्त ये है कि ” आपके दिन अच्छे होने चाहिए ”
  • ज़्यादा कुछ नहीं बदला ” उसके और मेरे ” बीच में पहले नफरत नहीं थी और अब ” प्यार ” नहीं है।
    खुश रहने के लिए सबसे पहला काम ये करो कि. …. लोग आपके बारे में क्या सोचेंगे ये सोचना छोड़ दो
    पैसे वालों का आधा पैसा तो ये जताने में चला जाता है कि वो भी पैसे वाले है
    एक कब्रिस्तान के बाहर लिखा था – सैकड़ों दफ़न है यहाँ … जो सोचते थे कि दुनिया उनके बिना नहीं चल सकती।
  • जो इंसान हमेशा आपका भला चाहे उसका उदास होना आपके लिए फ़िक्र की बात है।
    बेटी को चांद जैसा मत बनाओ कि हर कोई घूर घूरकर देखे…. किंतु बेटी को सूरज जैसा बनाओ ताकि घूरने से पहले सबकी नज़रें झुकजाएं….
    सो जाऊ के तेरी याद में खो जाऊ… ये फैसला भी नहीं होता और सुबह हो जाती है….
  • सब्र एक ऐसी सवारी है जो अपने सवार को कभी भी गिरने नहीं देती न किसी के क़दमों में और न किसी की नजरों सें
    कौन कहता है हम उसके बिना मर जायेंगे…हम तो दरिया है समंदर में उतर जायेंगे … वो तरस जायेंगे प्यार की एक बून्द के लिए … हम तो बादल है प्यार के … किसी और पर बरस जायेंगे
    जिंदगी एक सफर है आराम से चलते चलो … उतार चढ़ाव तो आते रहेगे..बस गियर बदलते रहो…
  • गिनती ठीक से सीखा नही,मगर … इतना मालूम हैं खुशियाँ बांटने से बढती हैं !
    हस के चल दूँ मैं कांच के टुकडो पर,अगर दोस्त कह दे की ये तो मेरे बिछाए हुए फूल हैं…
    जिस घाव से खून नहीं निकलता, समझ लेना वो ज़ख्म किसी अपने ने ही दिया है..
  • सरकार को पाकिस्तान के आतंकवाद का जवाब देना अनिवार्य नहीं है।। लेकिन.. सेटअप बॉक्स लगाना अनिवार्य हैं..!!
    शत्रु की दुर्बलता जानने तक उसे मित्र बनाए रखिये।
  • वादा हमने किया था निभाने के लिए…एक दिल दिया था एक दिल को पाने के लिए… उन्होंने मोहब्बत सिखा दी और कहा कि तुमसे प्यार किया था किसी और को जलाने के लिए….
  • तमन्नाओ की महफ़िल तो हर कोई सजाता है, पूरी उसकी होती है जो तकदीर लेकर आता है..!!
  • बेशक तू बदल ले अपने आपको लेकिन ये याद रखना.. तेरे हर झूठ को सच मेरे सिवा कोई नही समझ सकता…!
    ज़िन्दगी की हकीकत को बस इतना ही जाना है !.दर्द में अकेले हैं और खुशियों में सारा जमाना है…!
    वक़्त और प्यार दोनों ज़िन्दगी में ख़ास होते हैं .. वक़्त किसे का नहीं होता और प्यार हर किसी से नहीं होता।
    जहाँ “अहंकार” होता है,वहाँ “ज्ञान” लुप्त हो जाता है।
  • रिश्ते खून के नहीं होते विश्वास के होते हैं… अगर विश्वास हो तो पराये भी अपने हो जाते हैं और अगर विश्वास ना हो तो अपने भी पराए हो जाते हैं।
    ॥ यकीन और दुआ नजर नही आते मगर, नामुमकिन को मुमकिन बना देते है॥
  • कभी किसी के जज्बातों का मजाक ना बनाना…. ना जाने कौन सा दर्द लेकर कोई जी रहा होगा..
    कौन कहता है खामोशियां खामोश होती है जरूर इनमे कोई न कोई बात होती है इन्हें कभी गौर से सुन कर देखना क्या पता ये वह कह दे जिनकी आपको लफ्जों में तलाश होती है
    माता पिता से बढ़कर जग में मेरा कोई भगवान नहीं , चूका पाऊँ जो उनका ऋण इतना मैं धनवान नहीं।
    अच्छा दिल और अच्छा स्वभाव दोनो आवश्यक है, अच्छे दिल से कई रिश्ते बनेंगे और अच्छे स्वभाव से वो जीवन भर टिकेगे..
  • फूल कभी दो बार नहीं खिलते , जनम कभी दो बार नहीं मिलता , मिलने को तो हज़ारों लोग मिल जाते हैं पर हजारों गलतियां माफ़ करने वाले माँ बाप नहीं मिलते..
    बुरे वक़त में ही सबके असली रंग दिखते हैं … दिन के उजाले में तो पानी भी चांदी लगता है।
    मैं “किसी से” बेहतर करुं…क्या फर्क पड़ता है..!मै “किसी का” बेहतर करूं…बहुत फर्क पड़ता है..!!
    दुनिया में जितनी अच्छी बातें हैं…सब कही जा चुकी हैं…बस उन पर अमल करना बाकी रह गया है॥
  • आप जिस पर आँख बंद करके भरोसा करते हैं, अक्सर वही आप की आँखें खोल जाता है।
  • उसके होंठों पे कभी बददुआ नहीं होती , बस इक माँ है जो मुझसे कभी खफा नहीं होती.
    आशाएं ऐसी हो जो- मंज़िल तक ले जाएँ,मंज़िल ऐसी हो जो-जीवन जीना सीखा दे,जीवन ऐसा हो जो-संबंधों की कदर करे,और संबंध ऐसे हो जो-याद करने को मजबूर करदे
    पराया धन होकर भी कभी पराई नही होती। शायद इसीलिए किसी बाप से हंसकर बेटी की, विदाई नही होती।।
    छीन कर ‎हाथो‬ से ‪सिगरेट‬ वो कुछ इस ‪अंदाज़‬ से बोली … ‪कमी‬ क्या है इन ‎होठों‬ में जो तुम Gold_Flake पे मरते हो।
  • इतनी शिकायत , इतनी शर्तें , इतनी पाबन्दी, तुम मोहब्बत कर रहे हो या सौदा कोई !!
  • महान सपने देखने वालों के महान सपने हमेशा पूरे होते हैं
    कितना मुश्किल है ज़िन्दगी का ये सफ़र; खुदा ने मरना हराम किया, लोगों ने जीना!
    पराया धन होकर भी कभी पराई नही होती। शायद इसीलिए किसी बाप से हंसकर बेटी की, विदाई नही होती।।
  • करेगा ज़माना भी हमारी कदर एक दिन , बस ये वफादारी की आदत छूट जाने दो
  • जैसे ही भय आपके करीब आये , उसपर आक्रमण कर उसे नष्ट कर दीजिये
    बचपन में भरी दुपहरी नाप आते थे पूरा महोल्ला, जब से डिग्रियाँ समझ में आई, पाँव जलने लगे 🙁
  • मेरे बहुत अच्छे दोस्त है ज़माने में.. बस थोड़ी जिंदगी उलझी पड़ी है 2 वक़्त की रोटी कमाने में..।
    मुझे ऊंचाइयों पर देखकर हैरान है बहुत लोग… पर किसी ने मेरे पैरों के छाले नहीं देखे…!
    खामोशियाँ ही बेहतर हैं, शब्दों से लोग रूठते बहुत हैं…!!
  • आज कल शरीफ केवल वही लोग हैं जिनके मोबाईल में password नही होता हैं।
    बहुत अज़ीब होती है ये यादें भी मोहब्बत की..जिन पलों में हम रोए थे,उन्हें याद करके हमें हसीं आती है…और जिन पलों में हसें थे ..उन्हें याद करके रोना आता है॥
    दूसरों को छोटा कर के खुद बड़ा बनने की कोशिश न करें।
  • हमारी सही सोच एक नकारात्मक विचार को सकारात्मक विचार में बदल कटी हैं!!
    जिस व्यक्ति ने कभी गलती नहीं कि उसने कभी कुछ नया करने की कोशिश नहीं की
  • दावे दोस्ती के मुझे नहीं आते यारो,एक जान है जब दिल चाहें मांग लेना..
    तीन चीजें जादा देर तक नहीं छुप सकती, सूरज चंद्रमा और सत्य
  • तुम कहो या ना कहो…तकाज़े सब बयां कर देते हैं…फिर चाहें बेरुखी हो या मोहब्बत !!
    प्रसन्नता पहले से निर्मित कोई चीज नहीं है..ये आप ही के कर्मों से आती है
  • ये दुनिया है तेज़ धूप, पर वो तो बस छाँव होती हैं | स्नेह से सजी, ममता से भरी, माँ तो बस माँ होती हैं ||
  • भूखा पेट, खाली जेब, और झूठा प्रेम – इंसान को जीवन में बहुत कुछ सिखा जाता है॥
    रोज स्टेटस बदलने से जिंन्दगी नहीं बदलती,जिंदगी को बदलने के लिये एक स्टेटस काफी है..!!
  • क्या ओकात है तेरी ए जिन्दगी …चार दिन की मोहब्बत तुझे बरबाद कर देती है..
    चलता रहूँगा मै पथ पर, चलने में माहिर बन जाउंगा,या तो मंज़िल मिल जायेगी, या मुसाफिर बन जाउंगा !
    दीवाने लोग मेरी कलम चूम रहे है..तुम मेरी शायरी में वो असर छोड़ गई हो
  • बुरा वक्त तो सबका आता है, इसमें कोई बिखर जाता है और कोई निखर जाता है .
    अब हैरान नही होता अगर किसी का दिल टुटजाये.. अब तो चौक जाता हुँ किसी के प्यार कि कामयाबी पर…
    रिश्ते बर्फ के गोले की तरह होते हैं,जिन्हे बनाना तो सरल है लेकिन बनाए रखना काफी कठिन होता है
  • ऐ जिंदगी तू हँस ले मेरे जीने के अंदाज़ पे,वो दिन भी आएगा जब तू संवारेगी मुझे ।।
    लाख समझाया उसको की दुनिया शक करती है..मगर उसकी आदत नहीं गयी मुस्कुरा कर गुजरने की.!♪♥♪
  • बड़ी मुस्किल से सीखा है खुश रहना उन के बगैर अब सुना है ये बात भी उन्हे परेशांन करती है॥
    सब पूछते है मुझसे मौहब्बत है क्या ? मुस्करा देता हूँ मैं और याद आ जाती है माँ ।
  • रेत पर नाम कभी लिखते नहीं,रेत पर नाम कभी टिकते नहीं,लोग कहते है कि हम पत्थर दिल हैं,लेकिन पत्थरों पर लिखे नाम कभी मिटते नहीं।
    हम तो बेज़ान चीज़ों से भी वफ़ा करते हैं,तुझमे तो फिर भी मेरी जान बसी है…
    लोगो से कह दो हमारी तकदीर से जलना छोड़ दे। हम घर से दवा नही ‘माँ की दुआ’ लेकर निकलते है।
  • “क्या लिखूँ , अपनी जिंदगी के बारे में दोस्तों , वो लोग ही बिछड़ गए , जो जिंदगी हुआ करते थे” !!
  • बंद कर दिया सांपों को सपेरे ने यह कहकर,अब इंसान ही इंसान को डसने के काम आएगा।
    दर्द जब मीठा लगने लगे तो समझ जाइये आपने जीना सीख लिया।
  • करो कुछ ऐसा दोस्ती में की ‘Thanks & Sorry’ words बे-ईमान लगे..निभाओ यारी ऐसे के ‘यार को छोड़ना मुश्किल’ और दुनिया छोड़ना आसान लगे…
    गलत कहते है लोग कि संगत का असर होता है,वो बरसो मेरे साथ रही, मगर फिर भी बेवफा निकली..!!
  • मुस्कुराने के बहाने जल्दी खोजो वरना,जिन्दगी रुलाने के मौके तलाश लेगी
  • कितना मुश्किल हे मोहबत की कहानी लिखना,जेसे पानी से पानी पर पानी लिखना ।
    किसी को गीता में ज्ञान न मिला, किसी को कुरान में ईमान न मिला। उस बंदे को आसमान में क्या रब मिलेगा जिसे इंसान में इंसान न मिला।
    “लफ्ज् दिल से निकलते हैं दिमाग से तो मतलब निकलते है.”
    तेरे इश्क से मिली है मेरे वजूद को ये शौहरत ,मेरा ज़िक्र ही कहाँ था तेरी दास्ताँ से पहले।
  • गिद्ध भी कहीं चले गए लगता है उन्होंने देख लिया कि,इंसान हमसे अच्छा नोंचता है।
    एक सपने के टूटकर चकनाचूर हो जाने के बाद , दूसरा सपना देखने के हौसले को ‘ज़िंदगी’ कहते हैं॥
    गलती सुधरने का मौका तो उसी दिन से मिलना बंद हो गया था ,जिस दिन हाथ में पेंसिल की जगह पेन थमा दिया गया था |
  • अब शिकायतेँ तुम से नहीँ खुद से है.. माना के सारे झूठ तेरे थे.. लेकिन उन पर यकिन तो मेरा था!!
    पोथी पढ़ पढ़ जग मुआ, पंडित भया न कोय । ढाई आखर प्रेम का, पढ़े सो पंडित होय ।
  • सौदा कुछ ऐसा किया है तेरे ख़्वाबों ने मेरी नींदों से….या तो दोनों आते हैं …. या कोई नहीं आता !!
    फुर्सत नहीं है इन्सान को घर से मन्दिर तक जाने की..!ख्वाहिश रखता है श्मशान से सीधे स्वर्ग जाने की…!!!!
  • अन्धकार समस्या नही है, दीपक जलाने के हमारे प्रयासों का अभाव ही समस्या है ।
    यूँ तो हम दुश्मनों के काफिलों से भी सर उठा के गुजर जाते थे,खौफ तो अक्सर अपनों की गलियों से गुजरने में लगता है…!
    स्वार्थ से रिश्ते बनाने की कितनी भी कोशिश करो यह बनेगा नहीं, और प्यार से बने रिश्ते को तोड़ने की कितनी भी कोशिश करो यह टूटेगा नहीं।
  • कमाल का ताना देती है वो अक्सर मुझे, कि लिखते तो खूब हो.. समझा भी दिया करो !!!!
    दूध का सार है मलाई मे और जिंदगी का सार है भलाई में 🙂
    खोने की दहशत और पाने की चाहत न होती, तो ना ख़ुदा होता कोई और न इबादत होती
  • सोया तो था में जिंदगी को अलविदा कह कर दोस्तों,किसी की बे-पनाह दुआओ ने मुझे फिर से जगा दिया..
    बेटी को जिसने मरवा दिया था पत्नी के कोख में,मोहल्ले में लडकिया ढूँढ रहा है नवरात्रे के कन्या भोज में।।।
  • ना चाहते हुए भी आ जाता है, लबो पर नाम तेरा..!कभी तेरी तारीफों में…. तो कभी तेरी शिकायत मे…
    अगर लोग केवल जरुरत पर ही आपको याद करते है तो बुरा मत मानिये बल्कि गर्व कीजिये क्योंकि “मोमबत्ती की याद तभी आती है, जब अंधकार होता है।”
    इतना खुश रहो के साला गम बी कहे गलती से मे यहा कहा आ गया।….
  • “इश्क” का धंधा ही बंघ कर दिया साहेब।…. मुनाफे में “जेब” जले.. और घाटे में “दिल”..
    अगर जींदगी मे कुछ पाना हो तो तरीके बदलो, ईरादे नही..
  • करोड़ों में नीलाम होता है एक नेता का उतारा हुआ सूट,कचरे में फेक देते हैं शहीदों की वर्दी और बूट
    न जाने कब खर्च हो गये , पता ही न चला….वो लम्हे, जो छुपाकर रखे थे जीने के लिए…
  • बड़ा आदमी वो होता है जिस से मिलने के बाद आदमी खुद को छोटा ना समझे।
    सदैव अपनी छोटी छोटी गलतियों से बचने की कोशिश करें क्योंकि मनुष्य पहाड़ों से नहीं बल्कि छोटे पत्थरों से ठोकर खाता है…!!!
  • जब तक किस्मत का सिक्का हवा में है, तब खुद के बारे में फैसला कर लो क्योंकि जब वो नीचे आएगा तब अपना फैसला खुद सुनाएगा
  • दोस्ती हर चहरे की मीठी मुस्कान होती है,दोस्ती ही सुख दुख की पहचान होती है,रूठ भी गऐ हम तो दिल पर मत लेना,क्योकी दोस्ती जरा सी नादान होती है..
    इतना भी मत घुमा ऐ जिन्दगी मै शहर का शायर हु कोई MRF का टायर नही
  • जिंदगी को इतना सिरियस लेने की जरूरत नही यारों,यहाँ से ज़िंदा बचकर कोई नही जायेगा!
    कुछ तो बात है तेरी फितरत में ऐ दोस्त; वरना तुझ को याद करने की खता हम बार-बार न करते!
    ना तेरे आने कि खुशी ना तेरे जाने का गम,वो जमाना गया जब तेरे दीवाने थे हम।
  • मंजिल चाहे कितनी भी उंची क्यो ना हो दोस्तो..!! रास्ते हमेशा पेरो के नीचे होते हे..!! ✌️
    कुछ तो बात है तेरी फितरत में ऐ दोस्त; वरना तुझ को याद करने की खता हम बार-बार न करते!
  • ना तेरे आने कि खुशी ना तेरे जाने का गम,वो जमाना गया जब तेरे दीवाने थे हम।
    मंजिल चाहे कितनी भी उंची क्यो ना हो दोस्तो..!! रास्ते हमेशा पेरो के नीचे होते हे..!! ✌️
    अपने वजूद पर इतना न इतरा ए ज़िन्दगी…! वो तो मौत है जो तुझे मोहलत देती जा रही है…!!
  • हम जैसे सिरफिरे ही इतिहास रचते हैं !समझदार तो केवल इतिहास पढ़ते हैं !!
    तुम जिन्दगी में आ तो गये हो मगर ख्याल रखना,हम ‘जान’ दे देते हैं मगर ‘जाने’ नहीं देते !!
  • रिश्ता हो तो रूह से रूह का हो, दिल तो अक्सर एक दूसरे से भर जाया करते हैं….
    तुम अपने ज़ुल्म की इन्तेहाँ कर दो, फिर कोई हम सा बेजुबां मिले ना मिले…
    जिस नगर भी जाओ.. किस्से हैं कमबख्त बीवी के.. कोई ला के रो रहा है.. तो कोई लाने के लिए रो रहा है…
  • भूख रिश्तों को भी लगती है.. प्यार परोस कर तो देखिये..!
  • खूबसूरती से धोका, न खाइये जनाब, तलवार कितनी भी खूबसूरत क्यों न हो. मांगती तो खून ही है….!!
    न कहा करो हर बार की हम छोड़ देंगे तुमको, न हम इतने आम हैं, न ये तेरे बस की बात है…!!
  • दोस्त को दौलत की निगाह से मत देखो ,वफा करने वाले दोस्त अक्सर गरीब हुआ करते हैं….!!
    दुश्मन बनाने के लिए ज़रूरी नही लड़ा जाए! आप थोड़े कामयाब हो जाओ तो वो ख़ैरात में मिलेंगे …
  • ना सलाम याद रखना ना पैगाम याद रखना।छोटी सी तमन्ना है ऐ दोस्त मेरा नाम याद रखना।
  • तज़ुर्बा है मेरा…. मिट्टी की पकड़ मजबुत होती है,संगमरमर पर तो हमने …..पाँव फिसलते देखे हैं…!
    हम शतरंज नही खेलते, क्योंकि दुश्मनों की हमारे सामने बैठने कि औकात नही और दोस्तो के खिलाफ़ हम चाल नही चलते
    इक महेबूब लापरवाह इक महोबत बेपनाह दोनो काफी हे सूकून बरबाद करने को!!
    कितनी छोटी सी दुनिया है मेरी, एक मै हूँ और एक दोस्ती तेरी…
  • कुछ अलग करना है तो जरा भीड़ से हटकर चलो.. भीड़ साहस तो देती है, लेकिन पहचान छीन लेती है ।
    मसरूफ़ थे सब अपनी ज़िन्दगी की उलझनों में.. जरा सी ज़मीन हिली, सबको खुदा याद आने लगा.. 🙁
    तेरी याद से ही शुरू होती है मेरी हर सुबह..
  • वक़्त भी लेता है करवटे कैसी कैसी.. इतनी तो उम्र भी नहीं थी जितने हमने सबक सीख लिए…
    हर फैसले होते नहीं, सिक्के उछाल कर.. यह दिल के मामले है.. जरा संभल कर!!
Spread the love