Artificial Intelligence, Created By Adobe, Will Recognize The Tampering Of The Photos At The Moment

Artificial Intelligence, Created By Adobe, Will Recognize The Tampering Of The Photos At The Moment

अक्सर सोशल मीडिया में या किसी की सोशल मीडिया प्रोफाइल में आप ऐसी तस्वीर देखते हैं जो आपको हैरान कर देती है। इन तस्वीरों को लेकर आपके लिए यह पहचानना मुश्किल होता है कि यह तस्वीर असली है या नकली। ऐसी स्थितियों से निपटने के लिए Adobe एक नए टूल पर काम कर रहा है।

खबरों के अनुसार Adobe ऐसा आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस तैयार कर रहा है जो तस्वीर को देखते ही पता लगा लेगा कि इसे फोटोशॉप कर बदला गया है या नहीं। सोशल मीडिया में वायरल होने वाली तस्वीरें जो कईं बार बड़ी घातक साबित होती हैं ऐसी तस्वीरों को पहचानने में यह टूल बेहद काम आएगा।

कंपनी ने अपनी ब्लॉग पोस्ट में बताया है कि यह नई रिसर्च फोटो, वीडियो, ऑडियो और डॉक्यूमेंट्स के साथ होने वाली छेड़छाड़ की पहचान करने की दिशा में की जा रही है। इस प्रोग्राम के तहत टीम नने एक कॉन्वोल्यूशनल न्यूरल नेटवर्क को ट्रेन किया जो उन तस्वीरों की पहचान कर सकेगा जो फोटोशॉप में फेस अवे लिक्वीफाय फीचर की मदद से बनाई गई है। इस फीचर को इसलिए बनाया गया था ताकी फोटो में चेहरे के फीचर्स मसलन आंख और मुंह को बदल सके।

Adobe ने जब इस आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस की टेस्टिंग की नतीजे चौंकाने वाले थे। जहां इंसानी आंख किसी तस्वीर में मौजूद इंसान के आंख और नाक में किए गए बदलाव को 53 प्रतिशत तक पहचान सकती है वहीं ट्रेन किए गए नए सिस्टम की क्षमता 99 प्रतिशत निकली। इतना ही नहीं इस फीचर ने चेहरे में यह भी पहचाना कि बदलाव कहां किए गए थे।

कंपनी के रिसर्च हेड गेविन मिलर के अनुसार यह एक बेहद महत्वपूर्ण कदम है जिसमें विशेष प्रकार की इमेड एडिटिंग को पहचाना जा सकता है। हालांकि, इस तरह की तकनीक के बावजूद वो लोग ज्यादा सुरक्षित होते हैं जो जानते हैं कि इस तरह की बदली हुई तस्वीरों के फायदे का साथ नुकसान भी उतने ही हैं।

Spread the love

You May Like